उन्नति की अर्चना कार्यक्रम में भाग लेने वाले विद्यालयों की समीक्षा की गयी

प्रथम चरण में जिन शिक्षकों द्वारा लापरवाही बरती गयी है,

उन्नति की अर्चना कार्यक्रम में भाग लेने वाले विद्यालयों की समीक्षा की गयी

स्वतंत्र प्रभात 
 
 
 
 
उन्नाव जिलाधिकारी अपूर्वा दुबे द्वारा विकास भवन सभागार में उन्नति की अर्चना कार्यक्रम में भाग लेने वाले विद्यालयों की समीक्षा की गयी। इस मौके पर उन्नति की अर्चना कार्यक्रम के प्रथम चरण मे अच्छा प्रदर्शन करने वाले विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों तथा
 
 
सम्बन्धित ग्राम प्रधानों को प्रतीक चिन्ह एवं शाॅल भेंटकर सम्मानित किया गया। समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने बताया कि जिला प्रशासन एवं बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा बच्चों के सर्वागींण विकास हेतु उन्नति की अर्चना अभियान के रूप मे
 
 
एक अभिनव प्रयास किया गया है। इस अभियान के अन्तर्गत प्रथम चरण मे पाॅच सप्ताह की विभिन्न गतिविधियां प्रार्थना सभा के दौरान आयोजित करायी गयी हैं, जिसमे राष्ट्रगान को लयबद्ध व निर्धारित समय सीमा में
 
 
पूरा करना, सामान्य ज्ञान की जानकारी, राष्ट्रप्रेम की प्रतिज्ञा, बच्चों के द्वारा स्वयं विभिन्न आकृतियां बनाकर हेल्पलाइन नम्बर की जानकारी, देश के शीर्षस्थ पदों पर आसीन गणमान्य व्यक्तियों की जानकारी, फैन्सी ड्रेस प्रतियोगिता के
 
 
 
माध्यम से फल व सब्जियों की उपयोगिता, अंग्रेजी भाषा में बच्चों व अपने परिवेश का परिचय दिया जाना, घड़ी में समय देखना, विशेष व्यायाम प्रदर्शन (पीटी) इत्यादि गतिविधियां शामिल करायी गयीं हैं। डीएम ने बताया कि इन गतिविधियों के
 
 
आयोजन से बच्चे अनुशासन में रहकर प्रतिस्पर्धा के लिए प्रेरित हो रहे हैं। बच्चों का जुड़ाव भावनात्मक रूप से शिक्षकों एवं विद्यालय परिवार से बढ़ रहा है। बच्चों में अपने बड़ों का आदर व सम्मान की भावना तथा स्वच्छता की आदतों का विकास हो रहा है।
 
 
उन्नति की अर्चना अभियान के अन्तर्गत पाॅचवे सप्ताह के मूल्यांकन के उपरान्त जनपद स्तर पर उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले शिक्षकों व सम्बन्धित ग्राम पंचायत के प्रधानों कों जिलाधिकारी द्वारा प्रतीक चिन्ह व शाॅल देकर सम्मानित किया गया है।
 
 
इस दौरान जिलाधिकारी ने कहा कि प्रथम चरण में जिन विद्यालयों में कमी रह गयी है उनको द्वितीय चरण के अभियान मे दुरूस्त करने का प्रयास किया जाए। उन्होने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी सहित समस्त खण्ड शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दिये हैं
 
 
कि आगामी अभियान की नियमितरूप से माॅनीटरिंग की जाए, ताकि जिले मे बेसिक/बुनियादी शिक्षा के स्तर को सुधारा जा सके। उन्होने यह भी कहा कि अभियान के 
 
 
उन पर सख्त कार्यवाही अमल में लायी जाए। जिन प्रधानों ने स्कूलों को अच्छा बनाने मे सहयोग किया है वे बधाई के पात्र हैं। इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी ऋषि राज, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी संजय तिवारी, खण्ड शिक्षा अधिकारी गण, शिक्षकगण आदि उपस्थित रहे।
 
 
Tags:  

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel