संजीव-नी।। तेरे मायके जाने के बाद।

संजीव-नी।। तेरे मायके जाने के बाद।

तेरे मायके जाने के बाद।

तेरे मायके जाने के बाद,
पूरा घर एक कोने में
सिमट के रह गया है,
सीढीया ऊपर जाने वाली
ऊपर नहीं जाती,
नीचे आने वाली,
नीचे नहीं आती,
यूं तो बिस्तर डबल बेड का है,
पर सिकुड़कर
एक तरफ ही रह गया,
वह खिड़की के पर्दे
जिनके रंग खुशनुमा
और रंगीले हुआ करते,
आज वो सिमटे हुए
सादे और सफेद रंग के
सपाट दिखाई देते हैं,
खिड़की से कमरों में आती थी,
शीतल बयार,
आज उष्ण हवाएं
अंदर आकर झुलसा देती है
तुम्हारे रहते दीवारों के रंग
खिले खिले होते,
आज उदास और फीके,
और रीते से हैं,
और तो और
रसोइ में बर्तनों की,
आपस मे बतकही बन्द है,
चीनी,चायपत्ती कोनो
में छुप कर,
हाथ आने से
बचते है,
सच तुम्हारे माँ के घर
जाने से,
इतना बड़ा घर एक
छोटे से कोने में सिमटकर रह
गया है।
संजीव ठाकुर,कवि, 

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

अंतर्राष्ट्रीय

Italy में मेलोनी ने की खास तैयारी जी-7 दिखेगी मोदी 3.0 की धमक Italy में मेलोनी ने की खास तैयारी जी-7 दिखेगी मोदी 3.0 की धमक
International Desk इटली की प्रधानमंत्री जार्जिया मेलोनी के निमंत्रण पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 14 जून को 50वें जी-7 शिखर सम्मेलन...

Online Channel