परिणाम व पुरस्कार वितरण रविवार को बेलहरा के मिडिल स्कूल प्रांगण में किया गया

रहमानिया नुरुल इस्लाम,मदरसा रहमानिया मोइनुल इस्लाम,मदरसा फ़ैज़ाने

परिणाम व पुरस्कार वितरण रविवार को बेलहरा के मिडिल स्कूल प्रांगण में किया गया

स्वतंत्र प्रभात 
 
 
 
 
बेलहरा बाराबंकी सेव द ह्यूमैनिटी एंड एजुकेशनल सोसायटी बेलहरा द्वारा एक क्विज़ प्रतियोगिता की लिखित परीक्षा का आयोजन गत दिनों किया गया था जिसका परिणाम व पुरस्कार वितरण रविवार को बेलहरा के मिडिल स्कूल प्रांगण में किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि चेयरमैन प्रतिनिधि अयाज़ ख़ाँ रहे।
 
 
 
 
उक्त कार्यक्रम में हिन्द मांटेसरी स्कूल, युगांतर विद्या मंदिर,गायत्री विद्या मंदिर,यूनिक पब्लिक स्कूल,शारदा विद्या मंदिर,राजकीय इंटर कॉलेज,इक़रा सीनियर सेकेंडरी स्कूल,मदरसा 
 
 
 
 
मुस्लिमीन,मदरसा मोइनुल स्वालिहात के 267 छात्र छात्राओं ने भाग लिया था जिसमे प्रथम पुरस्कार हिन्द मांटेसरी स्कूल की छात्रा सना राइन पुत्री नियाज़ अहमद ग्राम घघसी को लैपटॉप,द्वितीय पुरस्कार यूनिक पब्लिक स्कूल की छात्रा रशिका यादव पुत्री हरिकेश यादव को साइकिल एवं तृतीय पुरुस्कार हिन्द मांटेसरी स्कूल के छात्र अबू सूफ़ियान पुत्र हाफ़िज़ मोहम्मद अहमद को कंप्यूटर टेबल दिया गया।
 
 
 
 
वहीँ टॉप 100 में चयनित छात्र छात्राओं को सोसायटी की तरफ से मेडल पहना कर सम्मानित किया गया। पुरस्कार पाकर बच्चों के चेहरे ख़ुशी चमक उठे।
 
 
 
इस मौके पर हाई स्कूल परीक्षा में बेलहरा में प्रथम स्थान लाने वाली छात्रा आमरीन ख़ान पुत्री स्व.आकिल ख़ाँ को अयाज़ ख़ाँ ने लैपटॉप देकर सम्मानित किया।अयाज़ खान ने अपने संबोधन में उन छात्र छात्राओं का मनोबल बढ़ाया जो इस प्रतियोगिता से बाहर हो गए उनको और मेहनत करने की सलाह दी।
 
 
 
सोसायटी के ख़ुर्शीद आलम,आदिल,दिलशाद,अफ़ज़ाल, रेहान,ताज सिद्दीक़ी, आलोक मिश्रा,शादाब राईन, दिलशाद राइन व अजय यादव ने प्रतिनिधि अयाज़ ख़ाँ सभी स्कूल के प्रधानाचार्य व मीडिया बंधु को मोमेंटो देकर सम्मानित किया। कार्यक्रम का संचालन राजू ख़ान ने किया।
Tags:  

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

राज्य उचित प्रक्रिया के बिना संपत्ति का अधिग्रहण नहीं कर सकता ।संपत्ति का अधिकार एक संवैधानिक अधिकार है। -सुप्रीम कोर्ट। राज्य उचित प्रक्रिया के बिना संपत्ति का अधिग्रहण नहीं कर सकता ।संपत्ति का अधिकार एक संवैधानिक अधिकार है। -सुप्रीम कोर्ट।
        स्वतंत्र प्रभात ब्यूरो।     सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को निजी संपत्ति को "सार्वजनिक उद्देश्य" के लिए राज्य के मनमाने अधिग्रहण

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel