सरकार तत्काल डीजल पेट्रोल की कीमतों पर उत्पाद शुल्क घटाकर कीमतों को नियंत्रित करे:कोंग्रेस

उन्नाव स्वतंत्र प्रभात ब्यूरो:-उन्नाव जिला कांग्रेस कमेटी उन्नाव द्वारा डीजल पेट्रोल की कीमतों में हो रही बेतहाशा वृद्धि के विरोध में महामहिम राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन जनपद के सभी ब्लॉकों में खंड विकास अधिकारियों को प्रभारियों द्वारा दिया गया। ज्ञापन में मांग की गई भाजपा सरकार द्वारा डीजल पेट्रोल पर लगाई गई एक्साइज ड्यूटी से

उन्नाव स्वतंत्र प्रभात ब्यूरो:-उन्नाव जिला कांग्रेस कमेटी उन्नाव द्वारा डीजल पेट्रोल की कीमतों में हो रही बेतहाशा वृद्धि के विरोध में महामहिम राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन जनपद के सभी ब्लॉकों में खंड विकास अधिकारियों को प्रभारियों द्वारा दिया गया। ज्ञापन में मांग की गई भाजपा सरकार द्वारा डीजल पेट्रोल पर लगाई गई एक्साइज ड्यूटी से डीजल के दाम आसमान छू रहे जिससे किसान कामगार परेशान होकर भुखमरी के कगार पर है छोटे मझोले उद्योग की कमर टूट चुकी है।

जब कच्चे तेल की कीमतें निम्न स्तर पर है सरकार द्वारा एक्साइज ड्यूटी के कारण बढ़ती कीमतें चिंता का विषय जिला कांग्रेस कमेटी उन्नाव का महामहिम राष्ट्रपति जी से अनुरोध हैं कि सरकार की जवाबदेही सुनिश्चित कराने का निर्देश जारी करें कि सरकार तत्काल डीजल पेट्रोल की कीमतों पर उत्पाद शुल्क घटाकर कीमतों को नियंत्रित कर आम जनता के दुख दर्द को समझे।

ज्ञापन देने वालों में महिला कांग्रेस की प्रदेश उपाध्यक्ष श्रीमती आरती बाजपेई ,आशीष त्रिपाठी एडवोकेट, विनय दीप श्रीवास्तव दीपू, कृष्ण पाल यादव एडवोकेट, अनुराग सिंह ,डॉ सुरेश यादव, बाबू रावत, सौम्य दीक्षित,गौरव शुक्ला,रमेश प्रताप सिंह, रामनरेश चक्रवर्ती, सलमान अहमद , आफाक अहमद, वरुण तिवारी, पुत्ती लाल वर्मा ,राज नारायण प्रजापति ,

गुलजार अख्तर, मुनेश्वर प्रसाद वर्मा, जीतेंद्र,विजय कुमार कल्लू सिंह,कमलेश तिवारी, कमलेश गौतम, राम गोपाल सिंह ,सर्वेश कुमार यादव, माधव प्रसाद, सत्यनारायण, सुंदर लाल निषाद ,अनुभव शुक्ला एडवोकेट, मंसूर अली, सलमान भाई सहित जनपद के सभी ब्लॉकों में प्रभारियों ने अलग-अलग ज्ञापन देकर विरोध प्रदर्शन किया।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती? सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती?
सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को चुनाव आयोग को उस याचिका पर जवाब दाखिल करने के लिये एक सप्ताह का समय...

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel

साहित्य ज्योतिष