विपत्ति काल में ही होती है सच्चे मित्र की पहचान-शशांक मिश्र

विपत्ति काल में ही होती है सच्चे मित्र की पहचान-शशांक मिश्र

संवाददाता -रवींद्र कुमार पांडेय तरबगंज,गोण्डा-विकासखंड अंतर्गत धौरहरा ग्राम सभा के युवा समाजसेवी विनायक शिक्षण प्रशिक्षण संस्थान के अध्यक्ष शशांक मिश्रा ने सैकड़ों गरीब परिवारों को राशन और धन बांटकर यह साबित कर दिया कि मुश्किले चाहे जितनी हो अगर कंधे से कंधा मिलाकर चलने की इच्छा हो तो हर मुश्किल आसान हो जाती है ।

संवाददाता -रवींद्र कुमार पांडेय

तरबगंज,गोण्डा-
विकासखंड अंतर्गत धौरहरा ग्राम सभा के युवा समाजसेवी विनायक शिक्षण प्रशिक्षण संस्थान के अध्यक्ष शशांक मिश्रा ने सैकड़ों गरीब परिवारों को राशन और धन बांटकर यह साबित कर दिया कि मुश्किले चाहे जितनी हो अगर कंधे से कंधा मिलाकर चलने की इच्छा हो तो हर मुश्किल आसान हो जाती है ।

ना राजनैतिक घराना और ना ही धनाढ्य परिवार लेकिन पिछले कई वर्षों से शशांक मिश्र अपनी गाढ़ी कमाई में से गरीबों के लिए कभी कंबल कभी रजाइया तो कभी नगद पैसे देकर उनकी समस्याओं का समाधान करते आए हैं। कोरोनावायरस के चलते जहां देश के कई धनाढ्य लोग और राज घराने, राजनीतिक रसूख रखने वाले लोग खामोश है।

वही साधारण परिवार में जन्मे शशांक मिश्र ने 21 दिन के लॉक डाउन के दौरान गरीबों को कोई दिक्कत ना हो इसके लिए 2100 रुपए तथा पूरे परिवार का राशन का प्रबंध करके एक नई मिसाल प्रस्तुत की। नारायण पब्लिक स्कूल के परिसर में विनायक शिक्षण प्रशिक्षण संस्थान के तत्वाधान में आज सैकड़ों लोगों को खाद्यान्न वितरित किए गए। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में उप जिलाधिकारी तरबगंज राजेश कुमार तथा वरिष्ठ पत्रकार वेद प्रकाश मिश्रा सहित कई गणमान्य उपस्थित रहे।

इस अवसर पर बोलते हुए उप जिलाधिकारी ने कहा कि जो लोग बाहर से आ रहे हैं ,उन्हें गांव के बाहर निर्धारित विद्यालयों में क्वॉरेंटाइन किया जाएगा। और उनसे 14 दिनों तक कोई संपर्क ना करें। मेडिकल टीम निरंतर गांव गांव जाकर सघन जांच कर रही है। इस अवसर पर गांव के लोगों की जागरूकता और सोशल डिस्टेंसिंग ही इस वायरस से बचाव कर सकती है।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel