अवैध बिल्डिंगों/ व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को भ्रष्ट अफसरों का संरक्षण

अवैध बिल्डिंगों/ व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को भ्रष्ट अफसरों का संरक्षण

रसूख वाले लोगों के लिए नहीं कोई कानून, चरम पर भ्रष्टाचार धर्मेन्द्र राघव अलीगढ़। सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रदेश में अवैध कार्यों पर सख्त हैं, लेकिन अलीगढ विकास प्राधिकरण के अफसर उनपे मेहरबान हैं। अलीगढ विकास प्राधिकरण के अफसर जिले में हैसियत देखकर अवैध निर्माणों पर कार्यवाही कर रहे हैं। आये दिन वैध निर्माण

रसूख वाले लोगों के लिए नहीं कोई कानून, चरम पर भ्रष्टाचार

धर्मेन्द्र राघव

अलीगढ़।

सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रदेश में अवैध कार्यों पर सख्त हैं, लेकिन अलीगढ विकास प्राधिकरण के अफसर उनपे मेहरबान हैं।

अलीगढ विकास प्राधिकरण के अफसर जिले में हैसियत देखकर अवैध निर्माणों पर कार्यवाही कर रहे हैं। आये दिन वैध निर्माण पर एडीए वीसी मनमोहन चैधरी बयान देते हैं, सील करने की कार्यवाही करते हैं लेकिन रसूखदारों के सामने उनकी यह कार्यवाही सिर्फ कागजों में ही सिमट कर रह जाती है।


अलीगढ के आगरा रोड़ पर कैप्स फार्म के सामने तथा अनूपशहर-क्वार्सी बाईपास पर सैंकड़ों बीघा में अवैध हॉस्पिटल, इंस्टिट्यूट और व्यावसायिक प्रतिष्ठान बने हुए हैं। रसूखदारों के इन अवैध निर्माणों को भ्रष्ट अफसरों का संरक्षण मिला हुआ है।

तमाम शिकायत के बावजूद भ्रष्ट अफसर कार्यवाही नहीं करते। एक अवैध निर्माण तो समाजवादी पार्टी के पूर्व कैबिनेट मंत्री की रसूखदार बेटी का है।

सूत्र कहते हैं कि करोड़ों का लेनदेन कर के अफसरों ने रसूखदार बेटी के अवैध हॉस्पिटल/इंस्टिट्यूट को बनवाया है और तमाम शिकायतों के बाद भी कोई कार्यवाही नहीं की है । शहर में चर्चाएं हैं कि सिर्फ हैसियत देखकर कार्यवाही करता है।


एडीए के वीसी मनमोहन चैधरी को इस बाबत कई काल किये लेकिन उनसे संपर्क नहीं हो सका । अब देखना यह है कि कानून की लम्बी लम्बी दलीलें देने वाले एडीए वीसी मनमोहन चैधरी रसूखदारों पर क्या कार्यवाही करते हैं ?

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती? सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती?
सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को चुनाव आयोग को उस याचिका पर जवाब दाखिल करने के लिये एक सप्ताह का समय...

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel