मां विंध्यवासिनी मंदिर के गर्भगृह में आम प्रवेश बंद करने पर विचार

मां विंध्यवासिनी मंदिर के गर्भगृह में आम प्रवेश बंद करने पर विचार

मिर्जापुर। जिला प्रशासन का सुझाव यदि क्रियान्वित हो सका तो ऐसा पहली बार होगा जब विध्याचल मंदिर के गर्भगृह में श्रद्धालुओं का प्रवेश बंद हो जाएगा। कोरोना महामारी से बचाव के लिए प्रशासन ने विंध्य पंडा समाज को गर्भगृह में दर्शनार्थियों का प्रवेश बंद करने का सुझाव दिया है। समाज की बैठक में इस पर

मिर्जापुर। जिला प्रशासन का सुझाव यदि क्रियान्वित हो सका तो ऐसा पहली बार होगा जब विध्याचल मंदिर के गर्भगृह में श्रद्धालुओं का प्रवेश बंद हो जाएगा। कोरोना महामारी से बचाव के लिए प्रशासन ने विंध्य पंडा समाज को गर्भगृह में दर्शनार्थियों का प्रवेश बंद करने का सुझाव दिया है। समाज की बैठक में इस पर फैसला लिया जाएगा। श्रद्धालु ऐसे में सिर्फ झांकी से माता के दर्शन कर सकेंगे।नगर मजिस्ट्रेट जगदंबा सिंह ने पंडा समाज के पदाधिकारियों से मौखिक रूप से यह कहा है कि कोरोना संक्रमण के चलते गर्भगृह से दर्शनार्थियों को प्रवेश न कराकर झांकी से मां का दर्शन कराया जाए।

जनपद में कोरोना के संदिग्ध मिलने के बाद प्रशासन गंभीर है। महामारी से बचाव के लिए हर संभव कदम उठाए जा रहे हैं।पंडा समाज के अध्यक्ष पंकज द्विवेदी ने बताया कि नगर मजिस्ट्रेट ने इस मुद्दे पर पंडा समाज को फोन किया है। विंध्य पंडा समाज के मंत्री मंत्री भानू पाठक ने बताया कि समाज की मीटिग में इसका निर्णय लिया जाएगा। पूर्व अध्यक्ष राजन पाठक का कहना है कि गर्भगृह में सिर्फ पंडा को जाने की इजाजत दी जाए। इस मामले में नगर विधायक रत्नाकर मिश्र ने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए यदि ऐसा किया जाता है तो जनहित में जरूरी कार्य होगा। उन्होंने कहा कि पूरा देश इस संकट से उबरने में लगा है।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel