दर्शनार्थियों को लेकर जा रहा ट्रैक्टर अनियंत्रित होकर पलटा

दो सगी बहनों की घटना स्थल पर दर्दनाक मौत

दर्शनार्थियों को लेकर जा रहा ट्रैक्टर अनियंत्रित होकर पलटा

दुर्घटना में ट्रैक्टर चालक व ढाई वर्षीया बालिका को आई गंभीर चोटें, मंडलीय चिकित्सालय रेफर

रिपोर्ट_ प्रवीण तिवारी

स्वतंत्र प्रभात, हलिया, मीरजापुर

 

हलिया। हलिया थाना क्षेत्र के कुशियरा गांव में मंगलवार सुबह 11 बजे के करीब ट्रैक्टर पलटने से दो सगी बहनों की घटना स्थल पर दर्दनाक मौत हो गई। वहीं घटना में ट्रैक्टर चालक व ढाई वर्षीया बालिका को गंभीर चोटें आई हैं। ग्रामीणों की मदद से घायलों को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र हलिया पहुंचाया गया जहां प्रभारी चिकित्साधिकारी अवधेश कुमार ने प्राथमिक उपचार के बाद दोनों की हालत गंभीर देखते हुए मंडलीय चिकित्सालय रेफर कर दिया।
हलिया थाना क्षेत्र के कुशियरा गांव निवासी सियाराम उर्फ कलक्टर कोल अपने ट्रैक्टर ट्राली पर परिवार के सदस्यों के साथ मंगलवार को 11 बजे दिन गांव स्थित हनुमान मंदिर पर कीर्तन बैठाने व दर्शन पूजन के लिए जा रहे थे। गांव स्थित जोगिया वीर बंधी पर चढ़ते समय ट्रैक्टर अनियंत्रित होकर पलट गया। ट्रैक्टर पर रमेश कोल  की 8 वर्षीया पुत्री मधु उर्फ कुसुम तथा 10 वर्षीय रंजना उर्फ जया की घटना स्थल पर ही मौत हो गई। वहीं दोनों बहनों के साथ ट्रैक्टर पर बैठी रमेश की ढाई वर्षीया पुत्री नेहा तथा 58 वर्षीय ट्रैक्टर चालक सियाराम उर्फ कलेक्टर गंभीर रूप से घायल हो गए। संयोग ठीक था कि हादसे में ट्राली नहीं पलटने से उसमें सवार 12 दर्शनार्थी बाल बाल बच गये। घटना की सूचना मिलने पर थानाध्यक्ष हलिया विष्णु प्रभा सिंह ने मौके पर पहुंचकर घटना की जांच पड़ताल की।
प्रभारी चिकित्साधिकारी हलिया डा॰अवधेश कुमार ने बताया कि चालक के सीने में व बालिका के पेट में गहरी चोट को देखते हुए प्राथमिक उपचार के बाद मंडलीय चिकित्सालय रेफर कर दिया गया है।मृत दोनों सगी बहन रमेश कोल की छह पुत्रियों में सबसे बड़ी रंजना व दूसरी पुत्री कुसुम थी सबसे छोटी ढाई वर्षीया नेहा गंभीर रूप से घायल है। रमेश की तीन पुत्रियां घर पर थी तीन पुत्रियां दर्शन पूजन के लिये जा रही थी जिसमें दो की घटना स्थल पर ही दर्दनाक मौत हो गई। मृत मधु कक्षा चार व रंजना कक्षा छह की छात्रा थी।
इस हृदय विदारक घटना से मृत बालिकाओं की मां पार्वती  रो-रोकर बेसुध हो जा रही थी। मृत बालिकाओं का पिता मेहनत मजदूरी कर परिवार का जीवन यापन करता है। रमेश के पिता ट्रैक्टर चालक सियाराम ने तीन वर्ष पूर्व ट्रैक्टर लोन पर लिया था घटना से पूरे गांव में मातम पसरा हुआ है।

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel

साहित्य ज्योतिष