चीन ने फिर की एक बार ताइवानी सीमाओं में घुसैपठ

चीन ने फिर की एक बार ताइवानी सीमाओं में घुसैपठ

स्वतंत्र प्रभात।

चीन और ताइवान के बीच  तनाव थमने का नाम नहीं ले रहै है । चीन ने एक बार फिर ताइवानी सीमाओं में घुसैपठ  की कोशिश की है। ताइवान के राष्ट्रीय रक्षा मंत्रालय ने शुक्रवार को एक ट्वीट में कहा कि दोनों देशों के बीच चल रहे तनाव के बीच एक बार फिर घुसपैठ हुई है। ताइवान के आसपास 31 चीनी सैन्य विमानों और चार नौसैनिक जहाजों का पता चला है। रक्षा मंत्रालय ने आगे कहा कि पता लगाए गए विमानों में से 12 विमानों ने ताइवान जलडमरूमध्य की मध्य रेखा को पार किया और ताइवान के दक्षिण-पश्चिम वायु रक्षा पहचान क्षेत्र (ADIZ ) में प्रवेश किया।

ताइवान के राष्ट्रीय रक्षा मंत्रालय ने ट्वीट कर बताया कि ताइवान के आसपास 31 पीएलए (पीपुल्स लिबरेशन आर्मी) विमान और चार पीएलएएन जहाजों का शुक्रवार सुबह छह बजे (स्थानीय समयानुसार) पता चला। आरओसी सशस्त्र बलों ने स्थिति की निगरानी की और इन गतिविधियों का जवाब देने के लिए लड़ाकू हवाई गश्ती (सीएपी) विमान, नौसेना के जहाजों और भूमि आधारित मिसाइल प्रणालियों को काम सौंपा। एक अन्य ट्वीट में ताइवान के राष्ट्रीय रक्षा मंत्रालय ने आगे कहा कि पता लगाए गए विमानों में से 12 (J-11*6, J-16*3, J-10*2 और BZK-007 UAV RECCE) ने ताइवान जलडमरूमध्य की मध्य रेखा को पार कर लिया था और ताइवान के दक्षिण-पश्चिम एडीआईजेड में प्रवेश किया था, जैसा कि सचित्र उड़ान पथ में दिखाया गया है।

इससे पहले 19 जनवरी को ताइवान के राष्ट्रीय रक्षा मंत्रालय ने एक ट्वीट में कहा था कि ताइवान के आसपास 16 पीएलए विमान और तीन पीएलएएन जहाजों का आज सुबह 6 बजे (स्थानीय समयानुसार) पता चला। आरओसी सशस्त्र बलों ने स्थिति की निगरानी की और इन गतिविधियों का जवाब देने के लिए लड़ाकू हवाई गश्ती (सीएपी) विमान, नौसेना के जहाजों और भूमि आधारित मिसाइल प्रणालियों को काम सौंपा।

ताइवान के राष्ट्रीय रक्षा मंत्रालय ने बताया था कि पता लगाए गए विमानों में से चार (JH-7, BZK-007 UAV RECCE और J-16*2) ने ताइवान जलडमरूमध्य की मध्य रेखा को पार किया और ताइवान के दक्षिण-पश्चिम एडीआईजेड में प्रवेश किया था। न्यूयॉर्क पोस्ट की रिपोर्ट के मुताबिक, सोमवार को भी ताइवान के आसपास चीनी सैन्य विमानों और जहाजों का पता चला था, जो पिछले सप्ताह में इस तरह की सातवीं घटना थी। समाचार रिपोर्ट के अनुसार, पिछले हफ्ते चीन ने चेतावनी दी थी कि स्वशासी द्वीप के साथ बातचीत करने वाले विदेशी राष्ट्रों के नेता "आग से खेल रहे हैं"।

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel