सब रजिस्टार के द्वारा की गई अवैध धन उगाही

सब रजिस्टार के द्वारा की गई अवैध धन उगाही

मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह से संबंधित है मामला


स्वतंत्र प्रभात
भीटी अंबेडकरनगर। तहसील से लेकर ब्लॉक परिसर तक भ्रष्टाचार का बोलबाला है अधिकारियों के नाक के नीचे जमकर भ्रष्टाचार किया जा रहा है। शिकायत के बाद भी उनके खिलाफ कोई ठोस कार्यवाही नहीं होती है। जिसकी वजह से उनके मनोबल लगातार बढ़ते जा रहे हैं।जिससे क्षेत्र की भोली-भाली जनता का लगातार शोषण किया जा रहा है। मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह के लाभार्थी से सब रजिस्टार भीटी यतीन्द्र सिंह के द्वारा अवैध धन उगाही करने का मामला सामने आया है। मामला भीटी विकासखंड अंतर्गत भीटी ग्राम सभा के मजरे भीखी दूबे का पूरा का है। पीड़ित राजित राम ने उप जिलाधिकारी को शिकायती पत्र देकर कार्यवाही की मांग की है। पीड़ित का आरोप है कि बीते 6 दिसंबर को उसके पुत्री माधुरी की शादी रीति रिवाज से मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह कार्यक्रम के अंतर्गत करण कुमार के साथ संपन्न हुआ। जिसमें शादी अनुदान की राशि मिलने के लिए समाज कल्याण अधिकारी भीटी शिवेश त्रिपाठी द्वारा बताया गया कि पहले जन सेवा केंद्र से ऑनलाइन करा कर अपनी तहसील के सब रजिस्टार के पास शादी पंजीकृत कराकर विवाह का प्रमाण पत्र लेकर आना होगा तब आपके खाते में शादी अनुदान की राशि भेजी जाएगी। आरोप है पीड़ित पिता लड़की और लड़के को लेकर सब रजिस्टार भीटी के पास गया तो फिंगर लगाने के लिए सब रजिस्टार यतीन्द्र सिंह के द्वारा दो हजार रुपये की मांग किया गया। जबकि पीड़ित गरीब होने के वजह से पैसा देने में असमर्थ था फिर भी किसी तरीके से पैसे की व्यवस्था करके सब रजिस्ट्रार को दिया तब जाकर शादी प्रमाण पत्र दिया गया। शिकायती पत्र के बाद भी लड़की और लड़के ने एसडीम के पास उपस्थित होकर सब रजिस्टर के द्वारा घूस लेने की बात से भी अवगत कराया है।

वृद्धा पेंशन बनाने के लिए भी पैसे की मांग

सरकार की लाख कोशिशों के बाद भी घूसखोरी रुकने का नाम नहीं ले रही है। जिस तरीके से विकासखंड भीटी में भ्रष्टाचार व्याप्त है शायद किसी ब्लॉक में ऐसा भ्रष्टाचार किया जाता होगा। ताजा मामला वृद्धा पेंशन योजना के अंतर्गत समाज कल्याण अधिकारी शिवेश त्रिपाठी का है जिनके द्वारा बिना पैसे के किसी भी वृद्धा पेंशन को नहीं बनाया जा रहा है लोगों से  पाँच सौ से एक हजार रुपए की वसूली की जा रही है।तब जाकर उनका वृद्धा पेंशन बन पा रहा है। जिनके द्वारा पैसे नहीं दिए जा रहे हैं उनको लगातार गणेश परिक्रमा कराई जा रही है फिर भी उनका वृद्धा पेंशन नहीं बन पा रहा है। चंदापुर निवासी लालजी तिवारी ने बताया कि वृद्धा पेंशन बनाने के लिए उनसे पाँच सौ रुपये की मांग की गई। वही थारिया कला ग्राम सभा के कई लोगों ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि उनसे वृद्धा पेंशन बनाने के लिए समाज कल्याण अधिकारी के द्वारा पांच सौ रुपये की मांग की गई लेकिन पैसा ना होने की वजह से हमारी वृद्धा पेंशन नहीं बन पाई है। समाज कल्याण अधिकारी शिवेश त्रिपाठी के द्वारा कटेहरी और भीटी दोनों ब्लॉक का चार्ज होने की वजह से सप्ताह में तीन तीन दिन ड्यूटी की जाती है। दोनों ब्लाकों में वृद्धा पेंशन बनाने के नाम पर जमकर भ्रष्टाचार किया जा रहा है। कटेहरी ब्लाक में भी समाज कल्याण अधिकारी शिवेश त्रिपाठी के द्वारा वृद्धा पेंशन बनाने के लिए लोगो से पाँच सौ रुपये की मांग की जाती है।

स्पष्टीकरण के बाद होगी विधिक कार्यवाही एसडीएम

वही भीटी एसडीएम सचिन यादव से बात करने पर बताया गया कि सब रजिस्टार से पूछताछ करने पर उनके द्वारा बताया गया कि मामला हमारे संज्ञान में नहीं था किसी कर्मचारी के द्वारा मांगा गया होगा फिर हाल सब रजिस्टार से स्पष्टीकरण मांगा गया है स्पष्टीकरण आने के बाद विधिक कार्यवाही की जाएगी।

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

राज्य उचित प्रक्रिया के बिना संपत्ति का अधिग्रहण नहीं कर सकता ।संपत्ति का अधिकार एक संवैधानिक अधिकार है। -सुप्रीम कोर्ट। राज्य उचित प्रक्रिया के बिना संपत्ति का अधिग्रहण नहीं कर सकता ।संपत्ति का अधिकार एक संवैधानिक अधिकार है। -सुप्रीम कोर्ट।
        स्वतंत्र प्रभात ब्यूरो।     सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को निजी संपत्ति को "सार्वजनिक उद्देश्य" के लिए राज्य के मनमाने अधिग्रहण

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel