खजनी थाना क्षेत्र छताई पुल पर हुए लूट का हुआ खुलासा

खजनी थाना क्षेत्र छताई पुल पर हुए लूट का हुआ खुलासा

अपराधियों का फोटोग्राफ, नाम/पता मय आपराधिक इतिहास प्राप्त हुआ।


स्वतंत्र प्रभात 
 

शत्रुघ्न मणि त्रिपाठी

गोरखपुर जनपद के खजनी क्षेत्र छताई पुल के पास कपड़ा ब्यवसाई के साथ हुए लूट का पर्दा खजनी पुलिस क्राइम ब्रांच के सहयोग से घटना का खोल दिया ।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, जनपद गोरखपुर द्वारा अपराध एवं अपराधियों के विरुद्ध चलाये जा रहे अभियान के तहत पुलिस अधीक्षक दक्षिणी के पर्यवेक्षण व अपर पुलिस अधीक्षक/क्षेत्राधिकारी खजनी के कुशल निर्देशन में दिनांक 26.10.2021 को छताई पुल के पास हुई लूट की घटना में सम्मिलित अभियुक्तों की गिरफ्तारी/बरामदगी हेतु प्रभारी निरीक्षक खजनी, क्राइम ब्रान्च, सर्विलांस सेल, स्वॉट की चार संयुक्त टीमें गठित की गयी थी।

घटनास्थल निरीक्षण के दौरान मौके से एक मोबाइल फोन जिसका स्क्रीन टूटा हुआ था, प्राप्त हुआ, इसका कवर हटाकर देखा गया तो उसमें एक स्टैम्प साइज फोटोग्राफ मिला, जिसे उत्तर प्रदेश पुलिस के त्रिनेत्र एप पर डाला गया तो इस फोटोग्राफ से मिलते-जुलते अपराधियों का फोटोग्राफ, नाम/पता मय आपराधिक इतिहास प्राप्त हुआ।

 सर्वाधिक मेल खाता फोटो दिनेश यादव पुत्र जमुना यादव निवासी सीयर थाना खजनी का था। उसके आपराधिक इतिहास के आधार पर जनपद गोरखपुर पुलिस द्वारा तैयार डोजियर बुक में छानबीन करने पर दिनेश यादव उपरोक्त का सम्पूर्ण विवरण प्राप्त हुआ। 


मौके से बरामद मोबाइल के सिमधारक के बारे में जानकारी की गयी तो वह भी दिनेश यादव उपरोक्त का निकला। इस आधार पर पुलिस दिनेश यादव उपरोक्त व उसके साथियों की छानबीन में जुट गयी। इलेक्ट्रानिक सर्विलांस के माध्यम से घटना के समय दिनेश यादव से बातचीत करने वाले व सहयोगियों की जीरोईंग की गयी तो जनपद संतकबीरनगर के उसके एक रिश्तेदार विवेकानन्द यादव तथा बेलघाट क्षेत्र के कुछ साथियों की जानकारी हुई। 


पुलिस की टीमें दिनेश यादव व उसके सहयोगियों की तलाश में मामूर थीं कि प्रभारी निरीक्षक खजनी संतोष  कुमार सिंह मय हमराहियान देखभाल क्षेत्र व तलाश वांछित अपराधी में मामूर होकर बड़डाड़ तिराहे पर मौजूद थे, कि स्वाट टीम प्रभारी चन्द्रभान सिंह मय हमराहियान उपस्थित आये। आपस में उपरोक्त घटना के  संबंध में वार्ता की जा रही थी कि मुखबिर खास द्वारा सूचना मिली कि दो संदिग्ध व्यक्ति डोमरघाट तिराहे पर

 किसी के आने का इन्तजार कर रहे हैं। जिनके पास कुछ संदिग्ध वस्तु है। इस सूचना पर मौके पर उपस्थित पुलिस बल को अवगत कराते हुए मौके से प्रस्थान कर डोमरघाट तिराहे की तरफ चल दिये। डोमरघाट तिराहे से करीब 100 मीटर पहले मुखबिर ने गाड़ी रुकवाकर तिराहे पर खड़े व्यक्तियों की तरफ इशारा किया और गाड़ी रूकते ही गाड़ी से उतर कर चल दिया। हम पुलिस वाले सामने खड़े संदिग्ध व्यक्तियों की तरफ आगे बढ़े,

 हम पुलिस वालों को नजदीक देखकर दोनो डोमरघाट गांव की तरफ भागने का प्रयास किये कि लगभग 50 कदम जाते-जाते पकड़ लिया गया। पकड़े गये व्यक्तियों ने पूछताछ पर एक ने अपना नाम श्याम सिंह यादव पुत्र रमाशंकर यादव निवासी इकौना बुजुर्ग थाना बेलघाट गोरखपुर उम्र 25 वर्ष तथा दूसरे ने अपना नाम जितेन्द्र यादव पुत्र देवमन यादव निवासी इकौना बुजुर्ग थाना बेलघाट गोरखपुर उम्र 24 वर्ष बताया। जामा तलाशी से 


श्याम सिंह यादव उपरोक्त के पास से 114000/-रुपया तथा जितेन्द्र यादव के पास से 74500/-रुपया बरामद हुआ। भागने का कारण पूछते हुए कड़ाई से पूछताछ किया गया तो बताया कि दिनांक 26.10.2021 को हम लोग अपने साथियों 1. विवेक उर्फ विवेकानन्द उर्फ कान्हा पुत्र रामकेवल निवासी सिरसा पोखरा थाना घनघटा जनपद संतकबीर नगर, 2. दिनेश यादव पुत्र जमुना यादव निवासी सीयर थाना खजनी जनपद गोरखपुर, 3. सर्वेश पुत्र राम नरायन यादव निवासी सीयर 

थाना खजनी गोरखपुर, 4. प्रदुम्न निवासी मीरपुर थाना बेलघाट गोरखपुर के साथ मिलकर रात करीब 8.00 बजे छताई पुल के पास एक बुलेट सवार व्यापारी से गोली मारकर उसके बैग में रखा पैसा छीनकर भाग गये थे। भागते समय दिनेश यादव का मोबाइल वहीं गिर गया था। इस कारण दिनेश ने कहा कि मोबाइल के माध्यम से पुलिस मुझ तक तथा प्रायः मेरे साथ रहने वाले विवेकानन्द यादव तक पहुॅच सकती है,

 अतएव अपने सहित चार लोगों को 15000-15000/-रू0 देकर शेष पैसा हम दोनों को छिपाने के लिये दे दिया। आज दिनेश यादव के सन्देश पर हम लोग यह पैसा लेकर गजपुर होते हुए रूद्रपुर देवरिया जा रहे थे कि आप लोगों ने पकड़ लिया। बैग में कुल 250000/-रुपया था। अभियुक्तगण को कारण गिरफ्तारी का बताते हुए हिरासत पुलिस में लिया गया। अग्रिम विधिक कार्यवाही की जा रही है।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel