भिडिउरा ग्राम प्रधान ने वनवासी परिवार को साबुन वितरित किया।

भिडिउरा ग्राम प्रधान ने वनवासी परिवार को साबुन वितरित किया। संतोष तिवारी (रिपोर्टर ) भदोही। सरकार भले ही कोरोना महामारी को लेकर एकदम लापरवाही नही करना चाहती है लेकिन स्थानीय स्तर जमकर लापरवाही देखी जा सकती है। मालूम हो कि कोरोना का प्रकोप जब प्रारम्भ हुआ था तभी ही सभी ग्राम प्रधानों को अपने गांव

भिडिउरा ग्राम प्रधान ने वनवासी परिवार को साबुन वितरित किया।

संतोष तिवारी (रिपोर्टर )

भदोही।

सरकार भले ही कोरोना महामारी को लेकर एकदम लापरवाही नही करना चाहती है लेकिन स्थानीय स्तर जमकर लापरवाही देखी जा सकती है। मालूम हो कि कोरोना का प्रकोप जब प्रारम्भ हुआ था तभी ही सभी ग्राम प्रधानों को अपने गांव में साबुन, सैनिटाइजर, मास्क इत्यादि की व्यवस्था करने का आदेश आया था लेकिन यह आदेश केवल कागजों तक सीमित हो गया। और जिले के अधिकतर गांवों में ग्राम प्रधानों के तरफ से कोई व्यवस्था न की गई।

और प्रशासन भी शायद इस आदेश को भूल गया। या हो सकता है कि कागज पर शासन को चीजे बताई जा चुकी हो। और जिले के गांवों का हाल केवल अपने पर आंसू बहा रहा है। लेकिन इसी बीच कुछ ऐसे भी मामले प्रकाश में आते है जो सच में आशा की किरण साबित होते है। एक ऐसा ही मला भदोही जिले के विकास खण्ड ज्ञानपुर के भिडिउरा में दिखा जहां ग्राम प्रधान ने वनवासी लोगो को नहाने का साबुन वितरित करने एक मिशाल पेश की।

मालूम हो कि ग्राम प्रधान ने वृहस्पतिवार को ग्रामसभा के वनवासी बस्ती में जाकर सभी लोगों को नहाने का साबुन वितरित किया। इस दौरान ग्राम प्रधान मुन्ना पाण्डेय ने देश में चल रहे कोरोना महामारी के बारे में जागरूक किया। और लोगो से अपील किया कि साफ सफाई, सामाजिक दूरी ही इस रोग से लडने के लिए जरूरी है। और इसमें सभी का सहयोग जरूरी है।

ग्राम प्रधान द्वारा साबुन पाने के बाद लोग काफी खुश दिखे। और सभी ने शासन और प्रशासन द्वारा दिये गये दिशा निर्देश को मानने की बात कही। काश! जिले के सभी ग्राम प्रधान अपने ही स्तर से अपने गांव के लोगों के लिए मास्क, सेनिटाइजर और साबुन की व्यवस्था कर देते तो इस समय उनका गांव काफी सुरक्षित रहता और यह कार्य उनके राजनीति के लिए भी अच्छा साबित होता।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel