नागरिकता संशोधन अधिनियम के विरुद्ध अफवाह ना फैलाएं लोग– चौकी प्रभारी मानेन्द्र सिंह

नागरिकता संशोधन अधिनियम के विरुद्ध अफवाह ना फैलाएं लोग– चौकी प्रभारी मानेन्द्र सिंह

संवाददाता – यज्ञनारायण त्रिपाठी मोतीगंज,गोण्डा- केंद्र सरकार द्वारा पारित नागरिकता (सी ए ए) संशोधित विधेयक बिल किसी धर्म व संप्रदाय के विरोध में नहीं है। फर्जी अफवाह ना फैलाएं अराजकता फैलाने वालों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही की जाएगी। यह बात थाना क्षेत्र के अल्पसंख्यक संवेदनशील गांव सिसवरिया में एक बैठक आयोजित कर कहोवा चौकी प्रभारी

संवाददाता – यज्ञनारायण त्रिपाठी

मोतीगंज,गोण्डा-
केंद्र सरकार द्वारा पारित नागरिकता (सी ए ए) संशोधित विधेयक बिल किसी धर्म व संप्रदाय के विरोध में नहीं है। फर्जी अफवाह ना फैलाएं अराजकता फैलाने वालों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही की जाएगी।

यह बात थाना क्षेत्र के अल्पसंख्यक संवेदनशील गांव सिसवरिया में एक बैठक आयोजित कर कहोवा चौकी प्रभारी मानेन्द्र सिंह ने कहीं। उन्होंने कहा कि केंद्र द्वारा पारित नागरिकता संशोधित बिल अधिनियम 2019 किसी धर्म व संप्रदाय के विरोध में नहीं है उन्होंने कहा यह कानून सिर्फ नागरिकता देने के लिए है न की किसी की नागरिकता खत्म करने के लिए। यह कानून विशेष कर भारत के अल्पसंख्यकों मुसलमानों का नागरिकता संशोधन अधिनियम से कोई अहित नहीं होगा । नागरिकता कानून देश के किसी भी नागरिक के नागरिकता पर कोई प्रभाव नहीं डालेगा ।
और ना यह कानून किसी भी भारतीय हिंदू मुसलमान या अन्य धर्म के लोगों को प्रभावित करता है। किसी के अफवाह व उकसावे में ना आए राष्ट्रहित सर्वोपरि है। तथा एक जुटता से भारत समृद्धिशाली राष्ट्र बन सकता है।

मोतीगंज थाने के कहोवा चौकी प्रभारी मानेन्द्र सिंह ने मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि नागरिकता संशोधन अधिनियम के तहत पाकिस्तान अफगानिस्तान और बांग्लादेश में धार्मिक उत्पीड़न के कारण वहां से आए हिंदू ईसाई सिख पारसी जैन और बौद्ध धर्म को मानने वाले शरणार्थियों को भारत की नागरिकता दी जाएगी।

उन्होंने जोर देते हुए कहा कि जो 31 दिसंबर 2014 से पूर्व ही भारत में रह रहे हैं तथा जो केवल इन 3 देशों से धर्म के आधार पर प्रताड़ित किए गए हैं और पीड़ित होकर भारत आए हैं। अभी तक भारतीय नागरिकता देने के लिए 11 साल भारत में रहना अनिवार्य था। नागरिकता संशोधन अधिनियम कानून केवल उन लोगों के लिए है जिन्होंने वर्षो से बाहर उत्पीड़न का सामना किया है और उनके पास भारत आने के अलावा और कोई जगह नहीं है।

इस बैठक में मुख्य रूप से प्रधान मोहम्मद सईद, यार मोहम्मद, सादिक अली, वकील अहमद, मोहम्मद सजीलं समेत सैकड़ों लोग उपस्थित थे। चौकी प्रभारी ने मौजूद लोगों को नागरिकता संशोधन बिल अधिनियम के सरकार द्वारा दी गई प्रचार सामग्री की प्रतियां वितरित की गई। चौकी प्रभारी मानेन्द्र सिंह के साथ कांस्टेबल किशन कुमार साथ में मौजूद रहे।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

अंतर्राष्ट्रीय

नेपाल में एयरपोर्ट पर रोकी गईं उड़ानें, अंतर्राष्ट्रीय सेवाएं बाधित नेपाल में एयरपोर्ट पर रोकी गईं उड़ानें, अंतर्राष्ट्रीय सेवाएं बाधित
स्वतंत्र प्रभात। नेपाल के त्रिभुवन अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट पर उड़ानें रोकने का समाचार है।  नेपाल के पोखरा अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर हुए...

Online Channel