प्रभावशाली व्यक्ति के दबाव मे पुलिस लगा रही गलत आख्या, आवेदक हो रहा परेशान!

प्रभावशाली व्यक्ति के दबाव मे पुलिस लगा रही गलत आख्या, आवेदक हो रहा परेशान!

प्रार्थी काट रहा है थाने थाने के चक्कर, मुख्यमंत्री जनसुनवाई पोर्टल पर शिकायत करने के बाद भी नहीं हुई सुनवाई! ईटों (जालौन)-चौकी ईंटों थाना गोहन निवासी एक व्यक्ति को थाना कुठौद ग्राम जमलापुर जुणारदार निवासी एक व्यक्ति से नगद व मेहनत का रुपया लेना था! पहले प्रथम पक्ष रुपये मागता रहा तो द्वितीय पक्ष टरकाता

प्रार्थी काट रहा है थाने थाने के चक्कर,  मुख्यमंत्री जनसुनवाई पोर्टल पर शिकायत करने के बाद भी नहीं हुई सुनवाई!

ईटों (जालौन)-चौकी ईंटों थाना गोहन निवासी एक व्यक्ति को थाना कुठौद ग्राम जमलापुर जुणारदार निवासी एक व्यक्ति से नगद व मेहनत का रुपया लेना था! पहले प्रथम पक्ष रुपये मागता रहा तो द्वितीय पक्ष टरकाता रहा जब  प्रथम पक्ष ने बार बार रुपये मागे तो दूसरे पक्ष ने उसे  जान से मारने की धमकी दी और उसके साथ बहुत अधिक अभद्रता की थी! जिसकी शिकायत 2017 में उसने थाने में की! दूसरे पक्ष ने भी   झूठा प्रार्थना पत्र गोहन थाने में आकर दे दिया! उस समय के थानाध्यक्ष ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद प्रथम पक्ष को सही ठहराया और द्वितीय पक्ष से रुपए देने लिए के लिए कहा गया तो द्वितीय पक्ष ने ₹18000 में ₹13000 देना कबूल किया और बताया  कि श्रीमान जी हमारी फसल आ जाएगी हम जुलाई में इनको रुपए दे देंगे जिसका लिखित समझौता हुआ

और समझौता की प्रति दोनों पक्षों को दी गई ! तय समय के बाद भी प्रथम पक्ष कई बार रुपए मांगता रहा परंतु उन्होंने रुपए नहीं दिए बल्कि प्रथम पक्ष को धमकाया गया! इस संबंध में कुठौद थाना के एसआई अमर सिंह यादव को भी प्रार्थना पत्र दिया गया परंतु द्वितीय पक्ष जो कि प्रभावशाली है इस कारण कोई कार्रवाई नहीं हुई! इसके बाद चौकी इंचार्ज कन्झारी राजीव सिंह जी को भी प्रार्थना पत्र दिया गया परंतु फिर भी कोई कार्रवाई नहीं हुई! तत्पश्चात कुठौद थाने के लिए मुख्यमंत्री जनसुनवाई पोर्टल के माध्यम से शिकायत भेजी गई! तो उस पर यह रिपोर्ट लगाकर इतिश्री कर ली गई कि मामला गोहन थाना पुलिस देखेगी! जब गोहन थाना ईंटों चौकी पुलिस के पास यह मामला जनसुनवाई पोर्टल के माध्यम से गया तो उन्होंने भी रिपोर्ट लगा दी कि आवेदक का कोई लेनदेन ही शेष नहीं है

जब कि पीडित पक्ष के पास दोनों पक्षों का लिखित समझौता है जो उसने जान्च अधिकारी को ईंटों व कन्झारी मे भी दिखाया पर पुलिस प्रभाव शाली व्यक्ति के दबाव मे आकर कोई कार्यवाही नहीं कर रही है अपितु उच्चाधिकारियो को गलत आख्या देकर गुमराह कर रही है! आवेदक परेशान है कि समझौता गोहन पुलिस ने करवाया था, वह अपने थाने मे कराये गये समझौते को न मानने वाले पर कार्यवाही से क्यों कतरा रही है! पुलिस के दबाव या जेब गर्म हो जाने के कारण दूसरे पक्ष की तरफ़दारी लेने से स्थिति यह है कि दूसरा पक्ष आवेदक के साथ कईबार बार अभद्रता कर चुका है और मारपीट करने, मुकदमा में फ़साने के लिए कहता है पूर्व मे भी दूसरा पक्ष बिना किसी कारण के अन्य लोगों की मारपीट कर चुका है जिसका गोहन थाना मे मुकदमा लिखा गया था! अब पीडित पक्ष ने न्याय व मदद के लिए माननीय मुख्यमंत्री, डीजीपी, पुलिस अधीक्षक महोदय से प्रार्थना पत्र भेजकर गुहार लगाई है! और समझौते के आधार पर नगद व मेहनत का रुपया दिलाने की मांग की है!

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel