CJI बोबडे : देश है मुश्‍किल में, शांति कायम करना है जरुरी…

CJI बोबडे : देश है मुश्‍किल में, शांति कायम करना है जरुरी…

स्वतंत्र प्रभात – गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट ने वकील विनीत डांडा की याचिका पर सुनवाई करते हुए बताया कि देश में अभी बहुत मुश्किल हालात हैं इसलिए यह जरुरी है की ऐसी याचिकाओं की जगह शांति बहाल करने की कोशिश की जानी चाहिए। और इस पर वकील विनीत डांडा ने कहा कि उनकी याचिका नागरिकता

स्वतंत्र प्रभात –

गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट ने वकील विनीत डांडा की याचिका पर सुनवाई करते हुए बताया कि देश में अभी बहुत मुश्‍किल हालात हैं इसलिए यह जरुरी है की ऐसी याचिकाओं की जगह शांति बहाल करने की कोशिश की जानी चाहिए। और इस पर वकील विनीत डांडा ने कहा कि उनकी याचिका नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के पक्ष में है न कि विरोध में। इस मामले की सुनवाई चीफ जस्टिस बोबडे, जस्टिस बी आर गवई और जस्टिस सूर्यकांत की बेंच कर रही है।

असल में पत्‍नी पुनीत कौर डांडा के द्वारा सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई याचिका में उन्‍होंने नागरिकता कानून संशोधन (CAA) पर शांति और सौहार्द्र में व्‍यवधान डालने वालों के खिलाफ सख्‍त कार्रवाई की मांग की। इस पर जल्‍द सुनवाई के लिए वकील विनीत डांडा ने इसे मेंशन किया था। इस याचिका की सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्‍टिस एसए बोबडे, ने वकील विनीत से कहा, ‘देश अभी मुश्‍किल हालात से गुजर रहा है जब यहां शांति लाने का प्रयास किया जाना चाहिए और ऐसी याचिकाएं शांति लाने में मददगार नहीं होगी।’ शांति लाना अभी ज्यादा जरुरी है।

वकील विनीत डांडा का कहना है कि उन्‍होंने नागरिकता संशोधन कानून को संवैधानिक घोषित करने की मांग वाली पत्‍नी पुनीत कौर डांडा की याचिका पर शीघ्र सुनवाई का आग्रह किया। विनीत ने कहा कि यह याचिका CAA के खिलाफ नहीं बल्कि उसके पक्ष में है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि CAA के खिलाफ जो भी याचिकाएं दाखिल की गई हैं, उन पर सुनवाई जारी हिंसा के पूरी तरह से रुकने के बाद ही की जाएगी।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती? सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती?
सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को चुनाव आयोग को उस याचिका पर जवाब दाखिल करने के लिये एक सप्ताह का समय...

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel

साहित्य ज्योतिष