पुलिस के गोल माल से पीड़ित को नही मिल रहा न्याय

पुलिस के गोल माल से पीड़ित को नही मिल रहा न्याय

बस्ती-
 
विवादित मकान  व जमीनको दबंगो न जे सी बी मशीन से कब्जा करने गए तो पीड़ित द्वारा 112 पर काल करके बुलाये जाने के बाद मौके पर मौजूद पुलिस के सामने दबंगो द्वारा 2 महिला व एक व्यक्ति को मार कर घायल किया जिनका पुलिस ने मेडिकल तक नही कराया और पीड़ित न्याय के लिए पुलिस अधीक्षक से गुहार लगाया। उल्टा दबंगो की से मिलकर पीड़ित पर ही मारने पीटने का मुकदमा लिख दिया।
 
         प्राप्त प्रथर्नापत्र के मुताविक  निवासी सोनू पांडेय  पुत्र कामता प्रसाद पांडेय  निवासी पूरे राय  गांव पुलिस अधीक्षक को प्रथर्नापत्र देते हुए पत्र के माध्यम से बताया कि आराजी नम्बर 63 व 65 को लालता उर्फ लालता प्रसाद पाण्डे  फर्जी तरीके से बैनामा कलावती देवी को कर दिया था। जिसका मामला न्यायालय में लंबित चल रहा है। लेकिन कलावती देवी के परिवार के लोगो कप पीने दम्बगयी
 
के बल पर  दिनांक क़7-4-24  जेसीबी मशीन लेकर आये और विवादित जमीन पर खुदाई करने शुरू किया जिसकी जानकारी होने पर सोनू पांडे अपनी पत्नी रम्या पांडेय की बहन प्रतिमा मिश्रा को भी मारने पीटने लगे। जिस पर पीड़ित सोनू पांडेय द्वारा 112 पर काल करके पुलिस बुलाई पुलिस को देखते ही डम्बगो का पारा और हाई हो गया और पुलिस के सामने मारने पीटने लगे।मौके पर मौजूद ने जिससे  वोपक्षियो का हौसला बढ़ गया।और पुलिस तमाशा देखती रही और पुलिस ने बचाने का प्रयास भी नही किया। विपक्षी के मुताबिक मारने वाला में  कलावती देवी व उनके लड़के हरिओम तिवारी पुत्र भूप नरायन तिवारी इनके भाई प्रीतम तिवारी व हरिओम की पत्नी ममता देवी, देव नरायन तिवारी  एवम लालता प्रसाद पाण्डे ने मिलकर मारा और इनके भाई कृष्ण मोहन ने जान से मारने की धमकी दिया। 
 
 इस सम्बंध  थानाध्यक्ष चन्द्रकांतपाण्डेय से जानकारी ली गई व अपना पक्ष बताने को कहा गया तो उन्होंने  की जिसने यह कहा है वहि लोग दूसरे पक्ष। को मारा और उनके ऊपर कार्यवाही की गई है तो क्रास रिपोर्ट लिखाने का प्रयास किया जा रहा है जब यह पूछा गया पीड़ित ने पुलिस बुलाया था तो इस पर उन्होंने कहा कि पुलिस का भी बयान है जब यह पूछा गया कि पीड़ित पक्ष को जो चोट लगी है उनका मेडिकल क्यों नही कराया गया तो सुनने के बाद फोन काट दिया । इससे साफ पता चल रहा कुछ तो गोल माल पुलिस द्वारा किया गया है और दंबगो को बचाने का। प्रयास किया जा रहा है।

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती? सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती?
सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को चुनाव आयोग को उस याचिका पर जवाब दाखिल करने के लिये एक सप्ताह का समय...

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel

साहित्य ज्योतिष