नगर पंचायत रुदौली के वार्ड नंबर 5 में श्रीमद् भागवत कथाश्री कृष्ण के जन्म की कथासुनकर भक्ति रस का आनंद लिया

नगर पंचायत रुदौली के वार्ड नंबर 5 में श्रीमद् भागवत कथाश्री कृष्ण के जन्म की कथासुनकर भक्ति रस का आनंद लिया

स्वतंत्र प्रभात 
बस्तीl बस्ती जिले के रुदौली नगर पंचायत वार्ड नंबर 5 दीनदयाल उपाध्याय नगर (थरौली) चल रहे श्रीमद् भागवत महापुराण कथा की पांचवें दिन भगवान परमात्मा श्री कृष्णा के अवतार की कथा का विस्तार से वर्णन किया जा रहा है कथा वाचक श्री आचार्य रघुनाथ दास  त्रिपाठी महाराज के मुखारविंद से भगवान परमात्मा विष्णु के अवतार भगवान श्री कृष्ण के जन्म की कथा का विस्तार वर्णन करते हुए जजमान श्रीमती शीला पांडे एवं वशिष्ठ कुमार पांडे कथा का गुरु जी के मुखारविंद से श्री कृष्ण  के जन्म का कथा आनंद लेते कंस कंस की बहन देवकी की आठवीं संतान का कथा का विस्तार वर्णन करते हुए उन्होंने कहा परमात्मा भगवान स्वरूप हैं और भगवान ही सब कुछ है बिहार से कंस के अत्याचार से लोग भयभीत रहते थे l
 
राजा उग्रसेन की पुत्री का विवाह वासुदेव से हुआ कंस द्वारा देवकी को अपने रथ पर बैठ कर उसके ससुराल पहचाने जा रहे थे की तभी आकाशवाणी हुई हे कंस  जी बहन को तुम इतने प्यार से अपने रथ पर बिठाकर उसके ससुराल विदा करने जा रहे हो उसी के आठवीं संतान से तुम्हारी मृत्यु होगी तभी कंस भाई भी तो हो गया और वसुदेव देवकी करने के लिए तलवार निकाल लिया तभी वासुदेव उन्हें कंस का पैर पकड़ लिया और कहा जो संताने होगी वह तुम्हें सब दिया जाएगा चाहे तुम उसको बंद कर डालना या उसे जीवित रखना l
 
इस समय कंस ने वसुदेव देवकीको कारागार में डाल दिया धीरे-धीरे समय बित गया देवकी के एक-एक करके 6 संताने हुई सातवीं संतान कन्या के रूप में पैदा हुई उसे कंस वध करने ही जा रहा था कि वह आकाश में उड़ती चली गई और आकाश में भविष्यवाणी किया एक कंस मूर्ख तुम मुझे क्या मारेगा तुझे मरने वाला जल्द ही आ रहा है साक्षात परमात्मा रूप रूम रख करके कृष्ण का अवतार लगा जो आठवीं संतान कहलाएगा वही तुम्हारा बात करेगा तुम उसका उसका कुछ नहीं बिगाड़ पाओगे उसके बाद कंस कारागार में पहरा सख्त कर दिया l
 
पहरेदारों को 24 घंटा निगरानी पर रख दिया लेकिन भगवान के जन्म के समय सभी पहरेदार सभी कारागार के दरवाजे के ताले खुल गए और भगवान साक्षात देवकी को दर्शन देते हुए कहा मैं तुम्हारे घर में आठवीं संतान के रूप में अवतार ले रहा हूं और आप मेरे बताए हुए मार्ग पर चलकर आगे यही तुम्हारे भाई का वध करेगा कंस इन इस बालक का कुछ नहीं बिगाड़ पाएंगे उसके बाद भगवान विष्णु अंतर्ध्यान हो गए भादो कृष्ण पक्ष की अष्टमी भगवान रात के 12:00 बजे कृष्ण के रूप में अवतार लिया और भविष्यवाणी हुई के वासुदेव तुम इस पुत्र का मोह माया छोड़कर के नंद बाबा के घर कन्या कन्या जन्म लिया है l
 
बालक को ले जाकर नंद बाबा के घर पहुंच कर वहां से कन्या को लेकर वापस आओगे तब तुम्हारी हाथों की हथकड़ी और बेडी पून.लग जाएगी लग जाएगी  इसी तरह भगवान विष्णु के अवतार के रूप में कृष्ण का जन्म हुआ आगे की कथा आचार्य रघुनाथ दास त्रिपाठी द्वारा छठवें दिन सुनेंगे इस अवसर पर जजमान श्रीमती शीला पांडे एवं वशिष्ठ कुमार पांडे विजय पांडे आलोक पांडे आदित्य पांडे और समस्त वार्ड नंबर 5 के वासी कथा का आनंद लेते हुए परमात्मा के भक्ति में लीन हुए l

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel

साहित्य ज्योतिष