डेनमार्क के समीक्षा दल ने जल जीवन मिशन योजना का किया निरीक्षण

- प्रतिनिधि मण्डल ने डीएम की साथ की बैठक

डेनमार्क के समीक्षा दल ने जल जीवन मिशन योजना का किया निरीक्षण

स्वतंत्र प्रभात

बांदा। आज भारत-डेनमार्क ग्रीन स्ट्रेटजिक पार्टनरशिप के तहत डेनमार्क से सहायता प्राप्त यूनॉप्स के जल जीवन मिशन के अंतर्गत चिन्हित मॉडल विलेज के मिड-टर्म-रिव्यू के लिए एक समीक्षा दल का आगमन बड़ोखर खुर्द विकास खंड के बड़ोखर खुर्द गांव में हुआ। यहां पर जल शक्ति मंत्रालय भारत सरकार के अंतर्गत जल जीवन मिशन के सेक्टर पार्टनर द्वारा ग्राम कार्य योजना, ग्राम पेयजल एवं स्वच्छता समिति तथा ग्राम पंचायत विकास योजना के बिंदुओं का निरीक्षण दल द्वारा निरीक्षण किया गया।

निरीक्षण दल में मुख्य समीक्षक क्लेस क्लेफोर्ट विदेश मंत्रालय डेनमार्क सरकार, डेनमार्क दूतावास से मिस गिनीसा स्ट्रेटजिक सेक्टर कोआपरेशन प्रोग्राम आफिसर ,निकोलाई जूनियर एसोसिएट पालिटिकल एंड इकानॉमिक रहे। आज भारत और डेनमार्क अपने साझेदारी के 75वां वर्ष मना रहे हैं ऐसे में जल जीवन मिशन और स्वच्छ भारत मिशन में मुख्य सहयोगी एवं साझेदारी के रूप में डेनमार्क और भारत सरकार एक दूसरे के साथ मिलकर ऊर्जा क्षेत्र में तथा सामुदायिक विकास में मिलकर काम कर रही है। यूनॉप्स की तरफ से माधुरी शुक्ला कम्युनिकेशन एसोसिएट, तरनप्रीत कौर ,नेशनल को-आर्डिनेटर और चारु शुक्ला स्टेट कंसल्टेंट यूनॉप्स न्छव्च्ै रहे।

इससे पूर्व प्रातः जिलाधिकारी  दुर्गा शक्ति नागपाल के साथ उक्त प्रतिनिधि मण्डल की हुई बैठक के क्रम में अपर आयुक्त चित्रकूट धाम मंडल बांदा एमपी सिंह,अपर जिलाधिकारी नमामि गंगे मनोज श्रीवास्तव, अधिशाषी अभियंता जल निगम ग्रामीण बांदा व यूनॉप्स के जिला सलाहकार आशीष कुमार सिंह ने भेंट की। समीक्षा टीम के साथ जिलाधिकारी महोदय की विस्तृत बातचीत में बांदा जनपद में भूगर्भ जल को संरक्षित करने के लिए जनपद के प्रयासों, अविरल जल अभियान, बांदा की बूंद बांदा के नाम और ग्राम समूह पाइप पेयजल परियोजना इसकी उपयोगिता तथा सामुदायिक स्वीकार्यता के ऊपर गहन बातचीत हुई जिलाधिकारी महोदय द्वारा यूनॉप्स के कार्य पद्धति पर संतोष व्यक्त करते हुए अपनी परिधि बढ़ाने का आग्रह किया गया तो वही मुख्य समीक्षक क्लेस क्लेफोर्ट ने एक रेगुलेटरी अथॉरिटी बनाने का सुझाव दिया।


टीम ने कलेक्ट्रेट बांदा स्थित अपर जिलाधिकारी नमामि गंगे कार्यालय में वाटर सप्लाई स्कीम का माडल देखा। इसके पश्चात बड़ोखर खुर्द गांव 650 किलो लीटर का जलाशय और 250 किलो लीटर पानी कि टंकी परिसर का निरीक्षण किया , गांव का ट्रांजेक्ट वाक करते हुए नल की टोटियों, सोख्ता गड्ढा, जूनियर हाईस्कूल में रुफ टाप रेन वाटर हार्वेस्टिंग स्ट्रक्चर, खाद गड्डे, नाडेप तथा जीपीडीपी के कार्यों का स्थलीय भ्रमण किया गया ।

ग्राम प्रधान लक्ष्मी देवी के प्रतिनिधि पुष्पेंद्र विश्वकर्मा, पंचायत सचिव पंकज कुशवाहा,आनंद यादव ,लेखपाल, ग्राम पेयजल एवं स्वच्छता समिति के 15 सदस्यों, 5 जल जांच गुणवत्ता टीम एवं समुदाय के साथ टीम ने बातचीत की , जल ज्ञान यात्रा के प्रतिभागी छात्र छात्राओं के साथ टीम ने बातचीत किया। यूनॉप्स न्छव्च्ै के संतोष सोनी, शिवाकांत तथा अनुज्ञा ने संचालन एवं रखरखाव का अभ्यास करने में मदद करी , जल शपथ के साथ कार्यक्रम सम्पन्न हुआ इसके साथ जल जांच गुणवत्ता करके दिखाया। जल निगम ग्रामीण, राज्य पेयजल एवं स्वच्छता मिशन, टीपीआई, कंस्ट्रक्शन कंपनी एनसीसी लिमिटेड इत्यादि उपस्थित रहे, आइ एस ए सोशल एक्सपर्ट विराज सिंह, जूनियर इंजीनियर बड़ोखर खूर्द प्रशांत कन्नोजिया, अनुज नामदेव जी पूरे समय बने रहे।

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel