फरियादी बाहर खड़े रहे और एसडीएम साहब दूसरे गेट से निकल कर चली गईं आवास

सरोजनी नगर तहसील में अफसरों की मनमानी से ग्रामीणों में नाराजगी, सीएम के आदेश भी नही मानते यहां के अफसर

फरियादी बाहर खड़े रहे और एसडीएम साहब दूसरे गेट से निकल कर चली गईं आवास

स्वतंत्र प्रभात
 
लखनऊ। प्रदेश के सीएम जनता की समस्या का स्थानीय स्तर पर समाधान कराने पर जोर दे रहे हैं तो वहीं दूसरी तरफ राजधानी की सरोजनी नगर तहसील के अधिकारियों के लिए जनता की समस्या कोई मायने नहीं रखती है। सोमवार को फरियादी एसडीएम सरोजनी नगर से मिलने के लिए उनके कार्यालय के बाहर खड़े रहे और एसडीएम साहब दूसरे गेट से निकल कर अपने आवास चली गईं। एसडीएम के इस व्यवहार से ग्रामीणों में खासी नाराजगी है।
 
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लगातार अफसरों को सख्त हिदायत दे रहे हैं कि वो अपने अपने कार्यालय में सुबह 10 से 12 जनता की समस्याओं को सुनकर उनकी समस्याओं का त्वरित निस्तारण करेंगे लेकिन मुख्यमंत्री के आदेश भी अधिकारी मानने को तैयार नहीं है। सरोजनीनगर तहसील के हालात भी कुछ ऐसे ही हैं जहाँ सोमवार को एसडीएम सरोजनीनगर से मिलने के लिए उनके कार्यालय के बाहर फरियादी खड़े रहे और एसडीएम साहब दूसरे गेट से बाहर निकल गयी।
 
आखिर फरियादियों को खाली हाथ वापस लौटना पड़ा। तहसील में में लोगों के मुताबिक बताया गया कि एसडीएम साहब 11.30 पर तहसील आई और 12 बजे से कोर्ट में बैठ गयी और 2.30 बजे तहसील परिसर में बने आवास पर चली गई। उसके बाद शाम को 6 बजे अपने कार्यालय आईं। ये दशा लखनऊ में तैनात अधिकारियों की है तो अन्य जिलों के हालात क्या होगें यह तो स्वयं में ही अन्दाजा लगाया जा सकता है।
 
 

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel