पडरौना उत्तर पिछड़े इलाके के किसानों के डूबती भविष्य का नही हैं कोई खेवनहार 

पडरौना उत्तर पिछड़े इलाके के किसानों के डूबती भविष्य का नही हैं कोई खेवनहार 

ऑनलाइन न्यूज चैनल स्वतंत्र प्रभात 

कुशीनगर। केंद्र सरकार द्वारा छितौनी तमकुही रोड नई रेल लाइन के लिए किसानों की जमीन अधिग्रहीत करवा ली गई और पहले बिहार के किसानों की रेलवे में अधिग्रहित जमीन का भुगतान हो गया और यूपी के कुशीनगर संसदीय क्षेत्र के विधान सभा खड्डा क्षेत्र के  भरपुरवा पडरौना विधानसभा क्षेत्र के जटहां बाजार, जरार, माघी कोठिलवा, अरनहवा चिरैहवा कुल पांच गांव के किसानों का भुगतान नहीं मिला। आज किसी की बेटी की शादी का सपना तो कोई घरेलू कामकाज का सपना लेकर हाथ मल रहा हैं, इधर किसानों का दर्द कोई नहीं सुन रहा है न ही कोई पिछड़े उत्तरांचल क्षेत्र के लोगों की डूबती नैया का खेलहार हैं।

FB_IMG_1545207963930

जैसे ऐतिहासिक कार्य जटहां बगहा गंडक नदी पर पूल सह सड़क मार्ग का निर्माण पांच साल पूरा होने जा रहा है। गंडक नदी पर पूल निर्माण कार्य हेतु सिर्फ ज्ञापन आश्वासन की झुनझुना पकड़वाया जा रहा है। निर्माण हेतु निष्ठा और लगन से ध्यान नहीं दिया जा रहा है। उपरोक्त दो प्रश्नों का उत्तर देने वाला कोई हैं पूछ रही है उत्तर गंडक तटवर्ती क्षेत्रों की जनता..? पीड़ित किसान अपनी  पीड़ा के किस्से किससे है, किसको सुनाए  इस लिए चुप हो गए है।

 

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel