पराली के बढ़ रहे मामलों पर डीएम ने जतायी चिंता, प्रबंधन के लिए प्रधानों को निर्देश

प्रधानों से समन्वय स्थापित कर पराली के लिए जागरूकता का निर्देश

पराली के बढ़ रहे मामलों पर डीएम ने जतायी चिंता, प्रबंधन के लिए प्रधानों को निर्देश

अमृत सरोवर, पुस्तकालय, खेल का मैदान, निर्माणाधीन आंगनवाड़ी केंद्र की ली रिपोर्ट

राघवेंद्र मल्ल 

पडरौना, कुशीनगर। जिलाधिकारी रमेश रंजन ने विभागीय समन्वय समीक्षा बैठक में पराली के बढ़ते मामलों पर चिंता जताते हुए इस पर नियंत्रण के लिए प्रधानों को जागरूक करने व पराली को रोकने के लिए संबंधित अफसरों को निर्देशित किया।

कलेक्टेट सभागार में बैठक की अध्यक्षता कर रहे डीएम श्री रंजन ने पराली प्रबंधन समीक्षा की। उप कृषि निदेशक आशीष कुमार को जनपद में पराली के बढ़ रहे मामलों को देखते हुए पराली प्रबंधन हेतु निर्देशित किया। इस क्रम में जिला पंचायती राज अधिकारी अभय यादव को ग्राम प्रधानों से समन्वय स्थापित कर लोगों में पराली हेतु जागरूकता फैलाए जाने को निर्देशित किया। जिलाधिकारी ने लेखपाल के माध्यम से भी ग्राम प्रधान से समन्वय स्थापित करके इस हेतु लोगो मे जागरूकता प्रसार व पराली जलाए जाने पर रोक लगाए जाने के निर्देश दिए।

बैठक में उपायुक्त मनरेगा राकेश कुमार से ग्राम पंचायतों में अमृत सरोवर, पुस्तकालय, खेल का मैदान, निर्माणाधीन आंगनवाड़ी केंद्र आदि की रिपोर्ट ली गई। जिलाधिकारी ने निर्देशित किया कि वैसे पंचायत भवनों को चिन्हित किया जाए जिसमें पुस्तकालय बनाया जाना है। निर्माणाधीन आंगनवाड़ी केंद्रों के संदर्भ में उन्होंने कहा कि खंड विकास अधिकारी ग्राम सचिवों के माध्यम से निर्माणाधीन आंगनवाड़ी केंद्र व वैसे ग्राम जहां आंगनवाड़ी केंद्र अभी तक नहीं है उनका पता लगाएं व सूची उपलब्ध कराएं। हेल्थ एटीएम के बारे में जिलाधिकारी ने कहा कि 14 विकास खंडों में एक-एक हेल्थ एटीएम लगाए जाएं। जिला पंचायती राज अधिकारी बड़े ग्राम पंचायतों की सूची सौपे जहां हेल्थ एटीएम की स्थापना की जाएगी। ग्रामीण क्षेत्रों में जहां डेंगू के मामले बढे हुए हैं वहां नियमित तौर पर फागिंग करवाएं जाने के निर्देश जिला पंचायत राज अधिकारी को डीएम ने दिया। जिलाधिकारी ने एडीओ पंचायत को फागिंग मशीन की संख्या बढ़ाने को निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि अगले 07 दिनों के अंदर फागिंग मशीन खरीदें। गाँवो में नियमित तौर पर फॉगिंग कराई जाए। ग्राम पंचायतों में कूड़े के एकत्रीकरण हेतु जिला पंचायती राज अधिकारी को जिलाधिकारी ने निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि गांव स्वच्छ हो, यंत्र तत्र कचड़ा ना पाया जाए। इसके लिए सफाई कर्मी नियमित तौर पर गांव की सफाई करें। ऑपरेशन कायाकल्प के तहत जिलाधिकारी ने खंड विकास अधिकारियों को निर्देशित किया कि विद्यालयों में आधारभूत सुविधाएं को जल्द से जल्द उपलब्ध कराया जाए। इस संदर्भ में विद्यालयों में फर्नीचर की व्यवस्था पर उन्होंने काफी जोर दिया और कहा कि जहां-जहां फर्नीचर नहीं है वहां खंड विकास अधिकारी फर्नीचर की व्यवस्था करवाएं। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी गुंजन द्विवेदी, समस्त उपजिलाधिकारीगण, समस्त खंड विकास अधिकारी तथा जनपद स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

 

About The Author

Related Posts

Post Comment

Comment List

Online Channel