कबरई बांध से प्रभावित 28 परिवारों का जल्द हो सेटलमेंट- मंडलायुक्त

कबरई बांध से प्रभावित 28 परिवारों का जल्द हो सेटलमेंट- मंडलायुक्त

नवंबर माह में अर्जुन सहायक परियोजना का लोकार्पण प्रस्तावित


स्वतंत्र प्रभात 
स्वतंत्र प्रभात

महोबा । कलेक्ट्रेट सभागार में जिले के नोडल अधिकारी/ मंडलायुक्त चित्रकूटधाम दिनेश कुमार सिंह द्वारा डीएम मनोज कुमार की उपस्थिति में विकास एवं प्रशासनिक कार्यों की समीक्षा की गयी।


      इस मौके पर नोडल अधिकारी ने अर्जुन सहायक परियोजना सहित जिले की 50 लाख रुपये से अधिक की लागत की प्रस्तावित व निर्माणाधीन परियोजनाओं की समीक्षा करते हुए कहा कि सभी निर्माणाधीन परियोजनाएं  समय से पूर्ण की जाएं और निर्माण कार्य में गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दिया जाए।उन्होंने कहा कि कबरई बांध से प्रभावित 28 परिवारों का अभी तक सेटलमेंट नहीं हो पाया है इसे जल्द से जल्द कराया जाए।

उन्होंने बताया कि नवंबर में अर्जुन सहायक परियोजना का लोकार्पण प्रस्तावित है इसलिए इससे सम्बन्धित शतप्रतिशत कार्य पूर्ण करा लिए जाएं।एक्सईएन सिंचाई को निर्देश दिए कि 30 नवंबर तक कबरई बांध कार्य पूर्ण कराना सुनिश्चित करें।

उन्होंने श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन मिशन अंतर्गत ग्राम ननौरा में भूसे का लगभग 20 लाख रुपए भुगतान बकाया होने को लेकर कड़ी नाराजगी जतायी और बीडीओ प्रशांत कुमार को कड़े निर्देश दिए कि बकाया भुगतान तत्काल कराना सुनिश्चित करें।

उन्होंने सभी बीडीओज को निर्देशित करते हुए कहा कि वे प्रत्येक गौशाला की साप्ताहिक और सीडीओ मासिक समीक्षा करना सुनिश्चित करें।उन्होंने कहा कि निर्माण एजेंसियों के सभी इंजीनियर्स इस बात का खास ध्यान रखें कि कहीं भी गुणवत्ता से खिलबाड़ न होने पाए।कहाकि की डीएम स्वयं सड़कों की गुणवत्ता को चैक करें।


       आईजीआरएस और  जनशिकायतों के निस्तारण को लेकर उन्होंने सख्त निर्देश दिए कि निस्तारण में गलत रिपोर्ट कदापि न लगाएं क्योंकि मुख्यमंत्री कार्यालय से इसकी नियमित समीक्षा की जाती है।उन्होंने बताया कि हमीरपुर और महोबा जनपद के सैटिस्फैक्शन लेबल खराब है।

जबकि शिकायतों के निस्तारण में ये जिले टॉप में रहते हैं।उन्होंने एसपी महोबा सुधा सिंह को निर्देशित करते हुए कहा कि पुलिस विभाग द्वारा निस्तारित शिकायतों में सैटिस्फैक्शन लेबल  ज्यादा खराब है,


 वे इसकी स्वयं निगरानी करें।शिकायत निस्तारित करने से पहले शिकायतकर्ता से जरूर बात करें।बीडीओ और तहसीलदार झूठी रिपोर्ट न लगाएं अन्यथा कड़ी कार्रवाही होगी।आईजीआरएस प्रभारी आरएस वर्मा को निर्देश दिए कि वे स्वयं आईजीआरएस की गहन समीक्षा करें।


उन्होंने कहा कि अतिवृष्टि से जिले के जो भी किसान प्रभावित हुए हैं उन्हें तुरंत मुआवजा दिलाया जाए।यह भी कहाकि सभी पात्र व्यक्तियों को सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ दिलाएं और अपात्र लोगों को पात्रता सूची से हटाया जाए।उन्होंने शिक्षा और मिड डे मील के समीक्षा करते हुए कहा कि बच्चों को स्वच्छता व सदाचरण के बारे में जानकारी दी जाए।बच्चों की ड्रेस, जूते-मौजे, बैग स्वेटर आदि के लिये अब 1100 रुपये के हिसाब से डीबीटी के माध्यम से सीधे खाते में दिए जा रहे हैं।

बीएसए यह सुनिश्चित करें कि सभी को इसका भुगतान हो जाए और ड्रेस आदि की व्यवस्था समय पर हो सके।उन्होंने सभी ईओज को निर्देशित किया कि वे अपने अपने नगर निकाय में साफ सफाई का विशेष ध्यान रखें और कूड़ा निस्तारण अच्छे से करवाएं।एडीएम नमामि गंगे को पेयजलापूर्ति की व्यवस्थाएं दुरुस्त कराने के निर्देश दिए।उन्होंने कर-करेत्तर की समीक्षा करते हुए कहा कि सभी विभाग बसूली को बढ़ाएं और समयान्तर्गत लक्ष्य के मुताबिक इसे पूर्ण करें।

उन्होंने सभी एसडीएम को निर्देश दिए कि 5 वर्ष से पुराने पेंडिंग मुकदमे शतप्रतिशत निस्तारित कर दिए जाएं।एक्सईएन सिंचाई नहरों की सफाई मानक के अनुसार सुनिश्चित कराएं ताकि पानी टेल तक पहुंचे जिससे किसान लाभान्वित हों।उन्होंने सीएमओ डॉ एम के सिन्हा को सख्त निर्देश दिए जिले के अस्पतालों में चिकित्सकों के द्वारा बाहर से दवा कदापि न लिखी जाए।जेनेरिक दवाखानों में दवा की उपलब्धता सुनिश्चित करायी जाए।

इसके साथ ही उन्होंने जल जीवन मिशन, स्वछ भारत मिशन, एनआरएलएम, पीएम आवास शहरी एवं ग्रामीण आदि की समीक्षा की और सम्बन्धित को अपना कार्य पूर्ण कराने के निर्देश दिए।उन्होंने पंचायत सचिवालय को लेकर पुनः निर्देश दिए कि सभी कर्मचारी गण अपनी ड्यूटी रोस्टर मुताबिक निर्धारित समय सीमा में उपलब्ध रहें और लोगों को स्थानीय स्तर पर लाभान्वित कराना सुनिश्चित करें।

उन्होंने दीपावली की अग्रिम शुभकामनाओं के साथ सभी आहरण-वितरण अधिकारियों व वरिष्ठ कोषाधिकारी को कड़े निर्देश दिए कि 1 नवंबर को सभी कर्मचारियों को हर हाल में वेतन मिल जाए, इससे सम्बन्धित यदि कोई शिकायत मिलती है तो कड़ी कार्रवाही की जाएगी।

       बैठक में सीडीओ डॉ हरिचरन सिंह, एडीएम नमामि गंगे जुबेर बेग, एसडीएम सदर जितेंद्र सिंह, सीओ सदर राम प्रवेश राय, सीएमएस डॉ आरपी मिश्रा, डीआईओएस एसपी सिंह,  डीआईओ सतीश यादव आदि लोग मौजूद रहे।
 

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel