इस्लाम धर्म के लोग पैगंबर हजरत मोहम्मद के जन्मदिन को ईद एग मिलाद उन नबी के रूप में मनाये

इस्लाम धर्म के लोग पैगंबर हजरत मोहम्मद के जन्मदिन को ईद एग मिलाद उन नबी के रूप में मनाये

मस्जिद से होते हुए मदरसा पर वह से गाँव में घूमते हुए पटिहटा गया वही नातिया कलाम पड़ते हुए जुलूस निकाला गया ।


 स्वतंत्र प्रभात 
 


इमिलिया चट्टी-मिर्ज़ापुर जनपद के विभिन्न विभिन्न मोहल्लों से निकाला गया ईद मिलादुन्नबी का जुलूस वही थाना अहरौरा के ग्राम खुटहा में भी जुलूस निकाला गया यह जुलूस  महबूब नगर  मस्जिद से होते हुए मदरसा पर वह से गाँव में घूमते हुए पटिहटा गया वही नातिया कलाम पड़ते हुए जुलूस निकाला गया ।


जगह जगह पर सीन्नी शरबत लोगो में बितरण किया गया यह जुलूस महबूब शाह बियाबानी मजार पर समापन किया गया वही इमिलिया चट्टी चौकी प्रभारी सुभाष यादव हेड कास्टेबल आशिफ खान राघवेंद्र सिंह के देख रेख में शान्ति पुर्वक सम्मपन्न हुआ वही सद्दाम अंसारी,वजीरमौलाना,अख्तर,

मुखतार,प्रधान पुत्र इम्तियाजअंसारी,नजीर ,जैनुल्ला मास्टर,अफ़सर,सल्लम,मकबूल,


समस्त ग्राम वासी रहे आपको बता दे की  इस्लाम धर्म के लोग पैगंबर हजरत मोहम्मद के जन्मदिन को ईद एग मिलाद उन नबी के रूप में मनाते हैं इस्लामी कैलेंडर के मुताबिक यह त्यौहार तीसरे महीने रवि अव्वल के 12 में दिन मनाया जाता है पैगंबर मोहम्मद का जन्म अरब के रेगिस्तान के शहर मक्का में 571 ईसवी 12 तारीख को हुआ था पैगंबर साहब के जन्म से पहले ही उनके पिता का निधन हो चुका था जब वह 6 वर्ष के थे 

तो उनकी मां की भी मृत्यु हो गई थी मां के निधन के बाद पैगंबर मोहम्मद अपने चाचा अबू तालिब और दादा आबू तालिब के साथ रहने लगी इनके पिता का नाम अब्दुल्ला और माता का नाम बीबी अमीना था अल्लाह ने सबसे पहले पैगंबर हजरत मोहम्मद को ही पवित्र कुरान की थी इसके बाद ही पैगंबर साहब ने पवित्र क़ुरान का संदेश दुनिया के कोने कोने तक पहुंचाया।


 

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel