माखी पुलिस ने किया महिला की हत्या का खुलासा, हत्यारे ने अपराध कबूला

माखी पुलिस ने किया महिला की हत्या का खुलासा, हत्यारे ने अपराध कबूला

आधार पर पुलिस ने बहनोई को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने गुनाह स्वीकार लिया।



स्वतंत्र प्रभात 


उन्नाव बीते शुक्रवार को सुबह माखी के पास शारदा नहर पर झाड़ियो में एक महिला का शव बरामद हुआ था उसके पास उसका तीन साल का बच्चा भी रोता हुआ पुलिस को मिला था।

उन्नाव एसपी अविनाश पांडेय और उनकी पूरी टीम ने तत्काल इस घटना को गंभीरता से लेते हुए । जांचशुरुकी और मोबाइल फोन के जरिए घटना का खुलासा किया।मृतका के मोबाइल की कॉल डिटेल के आधार पर पुलिस ने बहनोई को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने गुनाह स्वीकार लिया।

घटना इस प्रकार है जेवर बनवाने के लिए दो दिन पहले तीन साल के बेटे को साथ लेकर ससुराल लखनऊ से मायके आई युवती की उसके ही बहनोई ने लूट का विरोध करने पर गला रेतकर हत्या कर दी।लखनऊ के मॉल थाना क्षेत्र के आदमपुर गांव निवासी संतराम की 30 वर्षीय पत्नी माया चांदी के जेवर बनवाने के लिए पति से 15 हजार रुपये लेकर तीन साल के बेटे मोहित के साथ छह अक्तूबर को अपने मायके हरदोई के माखनखेड़ा गांव में पिता गजराज के यहां पहुंची। 

सात अक्तूबर सुबह करीमाबाद में रहने वाली बड़ी बहन सुखदेवी पत्नी गौरीशंकर के घर जाने के लिए बस से निकली। बहनोई गौरीशंकर को उसके आने की जानकारी लग गई। उसने अपनी साली माया को फोन किया और उसे लेने के लिए रसूलाबाद आने की बात कही। माया, बेटे मोहित के साथ रसूलाबाद में डेढ़ बजे बस से उतर गई। इसी बीच गौरीशंकर बाइक से वहां पहुंचा और माया व उसके बेटे को लेकर शारदा नहर के पास पहुंचा।


 बातों में उलझाकर वह माया को नहर पटरी से नीचे झाड़ी में लेकर चला गया। वहां उसकी पर्स में पड़े रुपये निकालने लगा। माया के विरोध करने पर बच्चे के सामने चाकू से गला रेतकर हत्या कर दी। 15 हजार रुपये लेकर खाली पर्स व चाकू धान के खेत में फेंककर भाग गया। बच्चा रातभर मां के शव से लिपटकर रोता-बिलखता रहा।

शुक्रवार सुबह खेत पहुंचे किसान मेवालाल बच्चे को मां के शव पर सिर रखकर सोते देख सन्न रह गया। पुलिस को सुचना देने पर घटना स्थल पर एसपी अविनाश पांडेय, एएसपी शशिशेखर सिंह, सीओ सफीपुर बीनू सिंह मौके पर पहुंची। फील्ड यूनिट और स्वॉट, सर्विलांस टीम को मौके पर बुलाया गया। स्वॉट टीम ने शव के पास धान के खेत में खोजबीन की।  इस दौरान महिला की पर्स बरामद हुई। 

जानकारी पर पति पहुंचा और शव देख बेहाल हो गया। स्वॉट प्रभारी गौरव कुमार ने मृतका के मोबाइल की कॉल डिटेल के आधार पर बहनोई गौरीशंकर को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने सच कबूल दिया। बहनोई के खिलाफ हत्या व शव छिपाने की धारा में रिपोर्ट दर्ज कर उसकी निशादेही पर खेत से चाकू बरामद कर लिया।पुलिस के अनुसार साली की हत्या कर लूटे गए 15 हजार रुपयों में बहनोई गौरीशंकर ने नौ हजार रुपये बाइक की किस्त भरी।

 पुलिस से बचने के लिए उसने मोबाइल और सिम अलग-अलग जगह पर फेंक दिए। उधर पुलिस ने महिला के मोबाइल की कॉल डिटेल व फोन लोकेशन निकाली तो पुलिस गौरीशंकर तक पहुंच गई।साली की हत्या के बाद गौरीशंकर उसके बच्चे की भी हत्या करना चाहता था। 


पुलिस के अनुसार शुक्रवार शाम 5 बजे बकरी चराने वाले बच्चे उधर से गुजरे। आहट पाकर वह बच्चे को छोड़कर भाग गया। पुलिस ने देखा कि बच्चे की शर्ट गीली थी। महिला पुलिसकर्मियों ने उसके कपड़े उतारे और गोद में उठा लिया। बिस्कुट खिलाया। एसपी अविनाश पांडेय ने बताया कि बहनोई से युवती की नजदीकियां थी। इस पर वह उसके साथ नहर के पास झाड़ी तक पहुंच गई। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सच सामने आने पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।


 

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel