घर मे रह रहे अपराधी को घर से भगाने की शिकायत करना एक बुजुर्ग को पड़ा भारी

घर मे रह रहे अपराधी को घर से भगाने की शिकायत करना एक बुजुर्ग को पड़ा भारी

रिस्तेदार होने के नाते पिता जी ने रहने को कह दिया उसके बाद। 


स्वतंत्र प्रभात 
 

त्रिवेदीगंज, बाराबंकी। घर मे रह रहे अपराधी को घर से भगाने की शिकायत करना एक बुजुर्ग को भारी पड़ गया ऐसा पीड़ित ने मुख्यमंत्री सहित जिम्मेदार अधिकारियों को लिखा शिकायत पत्र। 


लोनीकटरा थाना क्षेत्र के पसीन पुरवा मजरे मनोधर पुर का यह मामला काफी दिनों से अपराधी को घर से भगाने का मामला अखबार की सुर्खियों में देखा जा रहा था। पीड़ित राजकमल पुत्र रामलखन ने बताया कि हमारे घर हरियाणा जिले के एक शातिर अपराधी राकेश गर्ग कुछ दिन पहले हमारे घर आये आये व इलाज के बहाने एक सप्ताह रुकने की बात कही थी। दूर के रिस्तेदार होने के नाते पिता जी ने रहने को कह दिया उसके बाद। 


कुछ दिन बीतने पर हरियाणा पुलिस ने आकर दबिश दी। व गिरफ्तार कर ले गई। तब पता चला कि यह व्यक्ति एक अपराधी किस्म का है। इस पर 19 मुकदमे भी पंजीकृत है। सजा काट कर 6 माह बात फिर वापस आये। तो पिता जी ने घर मे घुसने नही दिया । तभी दबंग राकेश गर्ग जबरन घर मे घुस गए व तमंचा दिखा कर बोले कि अगर हम यहां नही रहेंगे तो इस घर मे कोई नही रहेगा। जिसकी लिखित शिकायत पिता जी ने थाने से लेकर कई जगह की लेकिन पुलिस ने कोई कार्यवाही नही की। जिससे हम लोग भयभीत होते गए। 

और 7 सितम्बर मंगलवार को पिता राम लखन मनोधरपुर बाजार गए थे। उसी वक्त अकेले का फायदा उठाकर हमे शक है कि राकेश गर्ग ने ही उन्हें गायब करवॉ दिया है। जिसकी लिखित शिकायत पुलिस अधीक्षक व लोनीकटरा में दी लेकिन एक माह बीत रहा है। पुलिस द्वारा कोई कार्यवाही नही की गई। और अपराधी भी पुलिस के संरक्षण में घूम रहा है।


 

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel