राजधानी : जानलेवा हमले में पीड़ित ने विकास नगर पुलिस पर लगाए है गंभीर आरोप  

जानलेवा हमले में पीड़ित ने विकास नगर पुलिस पर लगाए है गंभीर आरोप

राजधानी लखनऊ
अजय यादव

जहाँ एक तरफ योगी आदित्यनाथ और लखनऊ पुलिस कमिश्नर लगातार अराजकता पर लगाम लगाने की मुहीम के तहत बड़ी बड़ी बाते कर रहे है वही राजधानी लखनऊ के थाना विकास नगर उन दावे  की पोल खोलते नजर आ रहे है लगातार अराजकता और मारपीट की तमाम घटनाओ पर विकास नगर पुलिस जिस तरह धृतराष्ट्र  बनी हुई है l

उससे ये बात तो साफ़ होती है कि कही न कही पुलिस की भूमिका भी अब सवालो के लाल घेरे में है, जिससे आम जनता अराजकता और भय से दहशत में है उससे तो इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता है कि कही न कही थाना विकास नगर मामले को गंभीरता से नहीं ले रहा l

आपको बताते चले कि मामला होली के दिन मिर्जापुर और आस पास के दो दर्जन से ज्यादा लड़को ने अलीगंज के सेक्टर एम में दहशतगर्दी का तांडव किये थे जिसमे कई लोगो को गंभीर छोटे आयी है और सिर  में पांच-पांच टाँके भी लगे थे जानकारी यह भी आ रही है कि पहले से सुनियोजित करके अराजक लड़को द्वारा ही प्लान बनाया गया था और टारगेट करके अनिल शर्मा को चोट पहुंचाने की नियति से ही दो दर्जन लड़के होली के दिन दोपहर में आये और राजन नाम का एक लड़का जो उसी मोहल्ले में रहता था उसी के घर से षड़यंत्र करवाकर माहौल तैयार किया गया जिसके तहत होली खेलने आये लड़के जब राजन के घर में एक महिला को प्रताड़ित कर रहे थे तभी वो महिला अपने बचाव में चाक़ू लेकर पड़ोसियों को बीच बचाव करने के लिए बुलाया l
जानलेवा हमले में पीड़ित ने विकास नगर पुलिस पर लगाए है गंभीर आरोप
जिसमे अगल बगल से कुछ लोग आये बीच बचाव करने लगे और जैसे ही अनिल शर्मा बहार आये उनके ऊपर ताबड़तोड़ पत्थर बाजी  करने लगे जिसमे उनका सिर  फट गया जिसको देखकर सचिन नाम का ब्यक्ति ने बीच बचाव करने का प्रयास किया तो उसके ऊपर भी पत्थर से हमला हुआ जिससे उसका भी सर फट गया और जानकारी के मुताबित पांच टाँके भी लगे यहाँ तक की  जिस महिला को प्रताड़ित किया गया उसने भी राजन को अराजक लड़को का सहयोगी बताया है बताया जा रहा है कि दोनों लोगो का प्रापर्टी का विवाद भी एक वजह है जिसकी वजह से महिला ने राजन पर गंभीर आरोप लगाए कि यह सब राजन द्वारा ही किया गया है l राजन से सम्बंधित मामले में बात करने का प्रयास किया गया लेकिन वो बात करने से कतराते हुए फ़ोन काट दिया और फिर उससे संपर्क नहीं हो पाया
राजन से सम्बंधित मामले में बात करने का प्रयास किया गया
मामला यही नहीं रुका आगे जब और लोग बीच बचाव में तेजी से आस पास के लोग  इकठ्ठा होने लगे  तो भदगड़ में सभी लड़के भाग गए इसी दौरान दोनों तरफ से मारपीट की बात सामने आ रही है l अराजक लड़को में राजन को ही मास्टर मांइड बताया जा रहा है जो अपने सहयोगी लड़को को होली के दिन पहले से सुनियोजित करके बुलाया था एक सप्ताह पहले लूडो की खेल में राजन के भाई से अनिल शर्मा की  झड़प को लेकर हुए विवाद के बाद हुआ था जिसको लेकर राजन और उसके परिवार ने होली के दिन टारगेट बनाया l जानकारी तो यह भी आ रही है कि पहले भी लगातार अनिल शर्मा को मरने का प्रयास किया गया लेकिन होली के दिन ये कार्य पूरा काण्ड रचा गया l राजन के साथ आये दर्जन भर लड़को में सहयोगी लड़के शुभम उर्फ़ पोलार्ड,राहुल ,शशांक , राजन, सनी नट , शेखर, मिर्जापुर गांव और बेली गारद के बताये जा रहे है दो दर्जन लड़के अनिल शर्मा पर जानलेवा हमला किया था जिसमे उनको गंभीर चोटे  आयी थी अनिल शर्मा पार्क में में खुलेआम चल रहे जुवा और अराजकता के लिए लगातार विरोध  कर रहे थे जिसको लेकर अराजक लड़के ऐसा प्लान बनाये जिसमे घटना को अंजाम दिया गया l
थाना अलीगंज की कार्यवाई से पीड़ित पप्पू शर्मा ने ख़ुशी जाहिर की है ,जबकि थाना विकास नगर सवालो के लाल घेरे में
आये दिन ऐसी घटनाये हो रही है जिससे किसी गंभीर घटनाक्रम के होने की आशंका बानी हुई है l लगातार ऐसी दर्जनों घटना हुई है जिसमे अक्सर यही सब नाम सामने आते है और कई और नाम है जो धीरे धीरे सामने आएंगे पथ्थरबाजी की घटनाओ को थाने की कड़ी कार्यवाही ही विराम दे सकती है जिस आम जनता के मन में पुलिस का सम्मान वापस आए l  जानकारी आ रही है जिस शुभम पर हमला करने का आरोप है उसके खिलाफ थाना विकास नगर में लड़की पर चाक़ू से हमला करने का गंभीर आरोप है और जानकारी के मुताबिक वो छा महीने की जेल के बाद जमानत पर है समझने वाली बात ये भी है कि जिस लड़के पर इतनी गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज है l ऐसे आरोपियों को दुबारा जानलेवा हमला करना पुलिस की कार्यवाही पर ही गंभीर सवाल खड़ा कर देता है l

योगी आदित्यनाथ और लखनऊ पुलिस कमिश्नर लगातार अराजकता पर लगाम लगाने की मुहीम के तहत बड़ी बड़ी बाते कर रहे है

वही पीड़ित   के लड़के राहुल शर्मा ने पुलिस पर ही सवालिया निशान  उठाया है कि अभी तक थाने द्वारा न तो मेडिकल कराया गया है और न ही अभी तक किसी की गिरफ्तारी हुई है ऐसे में थानाध्यक्ष के ऊपर ही सवाल खड़े होते है कि घटना के तीन दिन बीत जाने के बाद भी पीड़ित का अभी तक मेडिकल क्यों नहीं हुआ  वैसे बताया यह भी जा रहा है कि  विकास नगर पुलिस ने अगर होली वाले दिन ही समय रहते घटना को गंभीरता से लिया होता तो ये नौबत ही न आती l वैसे चौकी इंचार्ज सब्जी मंडी सुमित कुमार से बातचीत में यह पता चला कि वो आज घटना स्थल पर जायेंगे और मामले की गंभीरता से समझने का प्रयास करेंगे साथ ही कहा कि पीड़ित को किसी भी तरह का भय है तो वो किसी भी समय फ़ोन कर सकता है सम्बंधित मामले में मुकदमा पंजीकृत किया गया है और जाँच जारी है l थानाध्यक्ष विकास नगर से इस मामले में बात करने का प्रयास किया गया लेकिन उनका फ़ोन न उठने कि वजह से जानकारी नहीं मिल पायी

थाना अलीगंज की कार्यवाई से पीड़ित पप्पू शर्मा ने ख़ुशी जाहिर की है ,जबकि थाना विकास नगर सवालो के लाल घेरे में

अगले दिन शुभम और उसके सहयोगी  लड़को द्वारा अनिल शर्मा के भतीजे दीपक शर्मा उर्फ़ पप्पू पर किये गए हमले में दिए गए शिकायती पत्र पर थाना अलीगंज ने मुकदमा पंजीकृत करके एक आरोपी शुभम उर्फ़ पोलार्ड का चालान कर दिया है l होली के अगले दिन फिर  हमला करने वाले लड़को में जो नाम आ रहे है वह सभी वही लड़के है जो होली वाले दिन अराजकता फैला चुके है अब समझने वाली बात यह भी है कि जब विकास नगर थाने में गंभीर धाराओं  में आरोपी शुभम दुबारा जानलेवा हमला करता है तो इससे साफ़ हो जाता है कि इन अराजक लोगो को पुलिस का कोई खौफ नहीं है बताते चले कि क्षेत्र में पत्थर बाजी और बमबाजी की  तमाम घटनाये जिस तरह आ रही है इससे यह भी अंदाजा लगाया जा सकता कि इन अराजक लड़को के पीछे किसी न किसी का हाथ हो सकता है जिससे अराजक लड़को के हौसले इतने बुलंद है कि उन्हें पुलिस कोई खौफ नहीं है l
थाना अलीगंज की कार्यवाई से पीड़ित पप्पू शर्मा ने ख़ुशी जाहिर की है ,जबकि थाना विकास नगर सवालो के लाल घेरे में
थाना अलीगंज की कार्यवाई से पीड़ित पप्पू शर्मा ने ख़ुशी जाहिर की है ,जबकि थाना विकास नगर सवालो के लाल घेरे में है अब देखने वाली बात ये होगी कि थाना विकास नगर सम्बंधित मामले में क्या कार्यवाही करेगा जिससे पीड़ित को पुलिस की कार्यवाही पर भरोसा हो ये तो आने वाला समय ही बताएगा वैसे मौके पर आए दिनेश तिवारी और उनके सहयोगियों ने पीड़ित को कठोर कार्यवाही का भरोसा दिया था  पुलिस को मामले को गंभीरता से जाँच करना होगा जिससे आगे वाले समय में ऐसी घटना की पुनरावृति न होने पाए और पीड़ित को न्याय मिल सके साथ ही अराजक लोगो को पुलिस का भय बना रहे  l

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here