सुरक्षित पृथ्वी के बिना धरती पर खुशहाल जीवन संभव नही

पृथ्वी दिवस पर सुरक्षित प्रकृति का आवाहन

सुरक्षित पृथ्वी के बिना धरती पर खुशहाल जीवन संभव नही

बस्ती।
 
सुरक्षित पृथ्वी के बिना धरती पर खुशहाल जीवन संभव नही है। धरती पर बढता लगातार ई कचरा, प्लास्टिक बड़े खतरे की घंटी है। समय से न चेते तो इसके नुकसान उठाने होंगे। यह विचार सामाजिक कार्यकर्ता राजेश पाण्डेय ने व्यक्त किया।
 
वे सोमवार को पृथ्वी दिवस पर पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय भारत सरकार के सहयोग से सुमन ग्रामीण विकास सेवा संस्थान द्वारा एसपीवाई आदर्श बालिका विद्यालय गनेशपुर में पृथ्वी दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में व्यक्त कियकार्यक्रम में उपस्थित छात्र-छात्राओं को पृथ्वी की रक्षा, पर्यावरण संतुलन, ग्लोबल वार्मिग, प्लास्टिक कचरों से बढते खतरे आदि के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई और पौधरोपण कर खुशहाल जीवन की कामना किया गया।
 
वक्ताओं ने कहा कि प्रकृति के साथ हमारे गहरे संबंध हैं और इसके बिना मानव जीवन संभव नहीं है। पृथ्वी दिवस पर्यावरण संरक्षण और स्थिरता के महत्व के बारे में बताने के लिए मनाया जाता है। हमें ग्लोबल वार्मिंग के बारे में पर्यावरणविदों के माध्यम से खतरों की जानकारी और मनुष्य की भूमिका के बारे में जानकारी मिलती है।
 
कार्यक्रम लतीफ अंसारी, अनिल पाण्डेय, खुशी, रमेश, अनीता आदि ने प्लास्टिक के खतरों पर छात्रों को जानकारी दिया और उन्हें प्रशिक्षण भी दिया। इस अवसर पर विविध कार्यक्रमों में हिस्सा लेने वाले छात्रो को प्रमाण-पत्र, शील्ड आदि देकर उनका उत्साहवर्धन किया गया। सुमन ग्रामीण विकास सेवा संस्थान के प्रबन्धक मनोज कुमार श्रीवास्तव ने उपस्थित लोगों का स्वागत करने के साथ ही धरती और प्रकृति के संरक्षण का आवाहन किया। कार्यक्रम में मुख्य रूप से रामललित, सौम्या, राहुल, रामतीरथ, रामललित वर्मा, सार्जन यादव, महीपत चौधरी, अर्जुन चौधरी, बब्लू प्रधान, लवकुश तिवारी, राजू के साथ ही विद्यालय के शिक्षक, छात्र उपस्थित रहे।
 
 

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel

साहित्य ज्योतिष