पढ़िए, कैराना की पांच प्रमुख खबर…

1- तीन डग्गामार किए सीज कैराना। नगर में दौड़ रहे पांच डग्गामार वाहनों के ई-चालान किए। जबकि तीन को सीज कर दिया गया। मंगलवार शाम पुलिस टीम ने कैराना-पानीपत रूट पर दौड़ने वाले डग्गामारा वाहनों के खिलाफ अभियान चलाया। इस दौरान पांच डग्गामार वाहनों के ई-चालान किए गए, जबकि तीन डग्गामार वाहनों को सीज कर

1- तीन डग्गामार किए सीज


कैराना। नगर में दौड़ रहे पांच डग्गामार वाहनों के ई-चालान किए। जबकि तीन को सीज कर दिया गया। मंगलवार शाम पुलिस टीम ने कैराना-पानीपत रूट पर दौड़ने वाले डग्गामारा वाहनों के खिलाफ अभियान चलाया। इस दौरान पांच डग्गामार वाहनों के ई-चालान किए गए, जबकि तीन डग्गामार वाहनों को सीज कर दिया गया है। पुलिस की इस कार्रवाई से चालकों में हड़कंप मचा रहा।

2- सीडीओ ने किया गौशाला का निरीक्षण

कैराना शामली

कैराना। आदर्श ग्राम ग्रुप द्वारा बनाई गई अस्थायी गौशाला का सीडीओ ने निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने गौशाला में व्यवस्थाओं का जायजा लिया।
दरअसल, मंगलवार को अदर्श ग्राम तितरवाड़ा ग्रुप के सदस्य राजेंश कुमार, गुरजास बजरंगी, संदीप, सतीश आदि ने संपूर्ण समाधान दिवस में एक प्रार्थना पत्र दिया था। उन्होंने बताया था कि उनकी ओर से गांव में ही जूनियर हाईस्कूल की पुरानी बिल्डिंग अस्थायी गौशाला बनाई गई है, जिसमें दो नौकर भी रखे हुए हैं। उन्होंने गौशाला के निर्माण व व्यवस्थाओं के लिए सहायता की मांग की। वहीं, संपूर्ण समाधान दिवस के बाद सीडीओ शंभूनाथ तिवारी बीडीओ गोपाल कृष्ण व अन्य अधिकारियों के साथ में गांव तितरवाड़ा में पहुंचे, जहां उन्होंने अस्थायी गौशाला का निरीक्षण किया तथा व्यवस्थाओं का जायजा लिया गया।

पढ़िए, कैराना की पांच प्रमुख खबर…

3- स्वास्थ्य कैंप में की 95 बच्चों की जांच

कैराना शामली

कैराना। राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत कैंप आयोजित कर करीब 95 बच्चों की जांच की गई।
मंगलवार को राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम (आरबीएस) के तहत प्राथमिक विद्यालय कंडेला नं-1 में स्वास्थ्य विभाग की ओर से एक दिवसीय कैंप का आयोजन किया गया, जिसमें डॉ. रीतू व डॉ. शेखर कुमार के करीब 95 बच्चों की जांच की गई। डॉ. रीतू ने बताया कि इस कार्य के लिए प्रत्येक ब्लॉक में दो टीमें लगाई गई है। प्रत्येक टीम को 19 वर्ष तक के 100 से 120 बच्चों के स्वास्थ्य की प्रतिदिन जांच करनी होती है। मुख्यतः बच्चों की लंबाई व वजन के अलावा आंखों की भी जांच की जाती है। स्वास्थ्य विभाग की ओर 38 प्रकार की बिमारियों को सूचीबद्ध किया गया है, जिनकी जांच का कार्य उन्हें सौंपा गया है। इस अवसर पर प्रधानाध्यापक सुनील कुमार, सहायक अध्यापिका ललिता देवी, शिक्षा मित्र प्रदीप कुमार आदि उपस्थित रहे।

पढ़िए, कैराना की पांच प्रमुख खबर…

4- विवाहिता को दिया तीन तलाक

  • दहेज के लिए तीन तलाक देने का आरोप
  • पीड़िता ने तहसील दिवस में लगाई इंसाफ की गुहार

कैराना शामली

कैराना। अतिरिक्त दहेज की मांग पूरी न होने पर विवाहिता को तीन तलाक दे दिया। पीड़िता का आरोप है कि कोतवाली में तहरीर देने के बावजूद भी कोई कार्रवाई नहीं हुई। विवाहिता ने संपूर्ण समाधान दिवस में इंसाफ की गुहार लगाई है।
मंगलवार को नसीमा निवासी आर्यपुरी देहात हाल निवासी चांद मस्जिद ईदगाह रोड ने संपूर्ण समाधान दिवस में प्रार्थना पत्र देते हुए बताया कि जनवरी 2019 में उसकी शादी आर्यपुरी के युवक के साथ हुई थी। उसके माता-पिता की मृत्यु हो चुकी है। आरोप है कि ससुरालियों द्वारा उससे दहेज में बाइक व एक लाख रूपये की मांग की जाने लगी, जिसके बाद उसे प्रताड़ित करते हुए घर से बाहर निकाल दिया गया, जिसके बाद वह अपने चाचा के यहां रह रही है। पीड़िता का आरोप है कि गत 12 जनवरी को उसके पति ने उसके चाचा के घर पर आकर उसे तीन तलाक दे दिया। पीड़िता का कहना है कि आरोपी ने पहले ही दूसरी शादी भी कर रखी है। उसने इंसाफ की गुहार लगाई है।


5- खनन के खिलाफ तहसील परिसर मे ग्रामीणों का प्रदर्शन

  • यमुना खादर के नंगलाराई में खनन के वैध पट्टे का विरोध
  • नंगलाराई और रामडा के ग्रामीणों ने की शिकायत

वाज़िद अली कैराना

कैराना। नंगलाराई और रामडा के ग्रामीणों ने यमुना खादर के नंगलाराई में आवंटित वैध बालू खनन पट्टे का विरोध किया है। ग्रामीणों ने तहसील मुख्यालय पर प्रदर्शन करते हुए संपूर्ण समाधान दिवस में शिकायत की है। उन्होंने बरसात में बाढ़ की आशंका जताते हुए खनन पट्टे को निरस्त करने की मांग की है।
मंगलवार को ग्राम नंगलाराई के प्रधान मोहम्मद यूसुफ व रामडा के ग्राम प्रधानपति मोबीन के नेतृत्व में दोनों गांवों के दर्जनों ग्रामीणों ने तहसील मुख्यालय पर प्रदर्शन किया। ग्रामीणों ने संपूर्ण समाधान दिवस में अलग-अलग शिकायती पत्र दिए। ग्रामीणों का कहना है कि नंगलाराई और रामडा गांव के बीच में खनन का पट्टा आवंटित किया गया है। जहां पर खनन माफियाओं द्वारा बड़े पैमाने पर खनन की तैयारी की जा रही है। खनन के कारण गांव में झगड़ा भी हो सकता है। यदि खनन होता है, तो इस सूरत में खनन में गहरे कुंड बन जाएंगे और भविष्य में बरसात के मौसम में बाढ़ भी आ सकती है, जिसे लेकर ग्रामीणों में भय बना हुआ है। ग्रामीणों ने मांग की है कि उनके गांव में आवंटित खनन के पट्टे को जनहित में देखते हुए निरस्त कराए जाने की मांग की है। इस दौरान ब्रह्म सिंह एडवोकेट, शमीम, महबूब, सद्दाम, फुरकान, कंवर, प्रदीप, अय्यूब, हाशिम, रमेश, मुबारिक, दिनेश, मुस्तकीम, नवाब, प्रकाश, फारूक आदि मौजूद रहे।

पढ़िए, कैराना की पांच प्रमुख खबर…


Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel

साहित्य ज्योतिष