ध्वस्त बिजली व्यवस्था को लेकर मुख्यमंत्री व उर्जा मंत्री को भेजा पत्र

व्यवस्था में सुधार न होने पर आंदोलन की दी चेतावनी संवाददाता -सुशील कुमार द्विवेदी इटियाथोक गोण्डा-इटियाथोक के पूर्व प्रधान ने क्षेत्र की ध्वस्त विजली व्यवस्था को लेकर सीएम व ऊर्जा मंत्री को भेजा पत्र, आंदोलन की चेतावनी दी है।पत्र में कहा है कि हमारी अपनी सरकार में विद्युत विभाग के अधिकारी जो ऑफिस से निकल

व्यवस्था में सुधार न होने पर आंदोलन की दी चेतावनी

संवाददाता -सुशील कुमार द्विवेदी

इटियाथोक गोण्डा-
इटियाथोक के पूर्व प्रधान ने क्षेत्र की ध्वस्त विजली व्यवस्था को लेकर सीएम व ऊर्जा मंत्री को भेजा पत्र, आंदोलन की चेतावनी दी है।
पत्र में कहा है कि हमारी अपनी सरकार में विद्युत विभाग के अधिकारी जो ऑफिस से निकल कर क्षेत्र में नहीं जाना चाहते घोर लापरवाही का परिचय दे रहे हैं।

देश आजाद होने के बाद बलरामपुर जनपद से इटियाथोक की विद्युत आपूर्ति के लिए 33000 की लाइन बनाई गई थी इन पचास सालों में आबादी बढ़ी कनेक्शन बड़े लोड बढ़ा परंतु संसाधन नहीं बढ़ा ना ही इन पचास सालों में इस जर्जर तार को बदलने का प्रयास किया गया जिसके कारण से क्षेत्र की लाखों जनता विद्युत आपूर्ति से त्राहि-त्राहि कर रही है क्योंकि आज तक इन लोगों ने अपनी जिम्मेदारी को समझ कर कोई काम नहीं किया यदि जिम्मेदारी समझते तो निश्चित इस तार को बदलाया जा सकता था परंतु विभागीय उदासीनता काम ना करने का तरीका हमारे क्षेत्र को पीछे लिए जा रहा है तथा इटियाथोक विद्युत सब स्टेशन 33 /11 पर नियुक्त विद्युत प्रभारी पवन कुमार जी द्वारा घोर लापरवाही की जा रही है। यहां की मशीन जिससे आउटगोइंग के लिए दो-दो फीडर अलग-अलग काम कर रहे हैं 1 हफ्ते से उसमें टेक्निकल प्रॉब्लम है जिसके वजह से दो फीडर एक साथ नहीं चल पा रहे हैं इस समस्या का निदान जो तत्कालिक कार्य करके किया जा सकता है उसको भी नहीं किया गया और इस समय इटियाथोक कस्बे के साथ साथ क्षेत्रीय जनता भी बिजली की समस्या से त्राहि-त्राहि कर रही है। ऐसी विषम परिस्थितियों में आपका ध्यान आकर्षित करना चाहता हूं की सबस्टेशन इटियाथोक का फाल्ट तत्परता पूर्वक 72 घंटे में ठीक कराया जाए और इटियाथोक से बलरामपुर के लिए बनी हुई 33 हजार की लाइन का तार बदलवाने की प्रक्रिया प्रारंभ कराई जाए जिससे आने वाले दिनों में क्षेत्रीय जनमानस को तकलीफ का सामना ना करना पड़े|

यदि समय रहते इन समस्याओं का निराकरण नहीं हुआ तो यह जनमानस जोकि मत दे करके अपनी सरकार बनाया है अपनी ही सरकार में आंदोलन करें तो शायद यह अच्छा नहीं होगा इसलिए हम उत्तर प्रदेश सरकार सहित ऊर्जा मंत्री व बिजली विभाग के उच्च अधिकारियों से अनुरोध करते हैं कि क्षेत्रवासियों के बिना जन आंदोलन हुए उक्त कार्य को करवाने की कृपा करें क्षेत्रीय जनता आपकी आभारी रहेगी।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel

साहित्य ज्योतिष