कोरोना संदिग्ध को लेकर मीडिया में बात आने से जागा स्वास्थ्य विभाग, ले गये हास्पिटल।

कोरोना संदिग्ध को लेकर मीडिया में बात आने से जागा स्वास्थ्य विभाग, ले गये हास्पिटल।

कोरोना संदिग्ध को लेकर मीडिया में बात आने से जागा स्वास्थ्य विभाग, ले गये हास्पिटल। संतोष तिवारी( रिपोर्टर ) भदोही। कोईरौना क्षेत्र के तुलसीकला के एक कोरोना संदिग्ध को आखिरकार स्वास्थ्य विभाग के तरफ से आई एम्बुलेंस बुधवार को ले गई। लेकिन इस घटना ने विभाग की लापरवाही की पोल खोल कर रख दी। यदि

कोरोना संदिग्ध को लेकर मीडिया में बात आने से जागा स्वास्थ्य विभाग, ले गये हास्पिटल।

संतोष तिवारी( रिपोर्टर )

भदोही।

कोईरौना क्षेत्र के तुलसीकला के एक कोरोना संदिग्ध को आखिरकार स्वास्थ्य विभाग के तरफ से आई एम्बुलेंस बुधवार को ले गई। लेकिन इस घटना ने विभाग की लापरवाही की पोल खोल कर रख दी। यदि विभाग की सख्ती मंगलवार को ही होती तो एम्बुलेंस आकर पीडित को ले जाती लेकिन ऐसा न हुआ। जब यह बात मीडिया मे आई तब प्रशासन सक्रियता दिखाते हुए संदिग्ध को ले गई।

बुधवार को डीघ सीएचसी प्रभारी के नेतृत्व में बुधवार को तुलसीकला गांव स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंची। और 55 वर्षीय कोरोना के सन्दिग्ध मरीज के स्वैब सैंपलिंग कराने व इलाज हेतु एम्बुलेंस से एमबीएस अस्पताल भदोही के लिए रवाना किया। सन्दिग्ध में 18 मई की रात से ही कोरोना का लक्षण दिख रहा है। उसे बुखार, खांसी व सांस लेने में तकलीफ है। वह मुम्बई से खुद की ऑटो से चलकर 16 मई की रात घर पहुंचा था।

17 मई की सुबह सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर पहुंचकर थर्मल स्क्रीनिंग भी कराया था। तुलसीकला गांव पहुंचे चिकित्सा प्रभारी डीघ डॉ. जी.एस.यादव ने कहा कि व्यक्ति के कोविड-19 से संक्रमित होने की आशंका है। थर्मल स्क्रीनिंग कराते हुए उसे जांच के लिए जिला अस्पताल रेफर किया गया है।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती? सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती?
सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को चुनाव आयोग को उस याचिका पर जवाब दाखिल करने के लिये एक सप्ताह का समय...

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel