मौसम विभाग का गुब्बारा बना कौतूहल का विषय

मौसम विभाग का गुब्बारा बना कौतूहल का विषय

गुब्बारा देखने के लिए उमड़ी ग्रामीणों की भीड़ संवाददाता – राज कुमार विश्वकर्मा छपिया,गोण्डा-छपिया थाना क्षेत्र के टिकरी रेंज के पिपरही जंगल के पास शेषराम के भट्टे के पास गिरा मौसम विभाग का छोड़ा गया गुब्बारा, देखने के लिए लगी भीड़। शुक्रवार को छपिया थाना क्षेत्र के टिकरी रेंज के पिपरही जंगल आसमान से उड़ता

गुब्बारा देखने के लिए उमड़ी ग्रामीणों की भीड़

संवाददाता – राज कुमार विश्वकर्मा

छपिया,गोण्डा-
छपिया थाना क्षेत्र के टिकरी रेंज के पिपरही जंगल के पास शेषराम के भट्टे के पास गिरा मौसम विभाग का छोड़ा गया गुब्बारा, देखने के लिए लगी भीड़।

शुक्रवार को छपिया थाना क्षेत्र के टिकरी रेंज के पिपरही जंगल आसमान से उड़ता हुआ एक विशाल गुब्बारा जमीन पर गिर पड़ा। जिससे गांव में देखते हीं देखते लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। बता दें कि शुक्रवार अहले सुबह आसमान से उड़ता हुआ एक वृहद गुब्बारा अचानक जमीन पर गिर गया ।

गुब्बारा गिरते ही पूरे गांव में कौतूहल मच गया। जितनी मुंह उतनी बातें लोगों द्वारा सुनने को मिल रहा हैं।
ग्रामीणों ने इसकी सूचना संजय तोमर को दी। उन्होंने बताया यह गुब्बारा मौसम विभाग ने छोड़ा है ताकि बारिश से संबंधित सूचना मिल सके।

इसलिए छोड़ा जाता है यह गुब्बारा

प्राप्त जानकारी के अनुसार आसमान से सीधे लेने के लिए गुब्बारा व सेंसर बॉक्स छोड़ा जाता है, जिससे मौसम की जानकारी विभाग को कई बिंदुओं पर मिलती रहे। मौसम की जानकारी संकलन के लिए आसमान में हीलियम गैस से भरा गुब्बारा छोड़ा जाता है। इसके साथ एक सेंसर बॉक्स भी रहता है। सेंसर बॉक्स मजबूत धागे से बंधा होता है।

मौसम विभाग का गुब्बारा बना कौतूहल का विषय

सेंसर के जरिए विभाग को मौसम में पल पल हो रहे बदलाव की जानकारी एकत्र करता है। जमीनी भाग से एक-दो किमी ऊंचाई पर यह उड़ता रहता है। अगर किसी कारणवश नीचे जमीन पर आ जाता है तो कार्य करना बंद कर देता है। हवा के प्रवाह में बदलाव, गैस कम होने या अन्य कारण से यह गिर जाता है। इसलिए इसपर सूचना अंकित कर दी जाती है कि अगर यह ग्रामीणों को मिले तो इसे नष्ट कर दें।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती? सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती?
सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को चुनाव आयोग को उस याचिका पर जवाब दाखिल करने के लिये एक सप्ताह का समय...

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel