न्याय की आस में 2 माह से थाने का चक्कर लगा रहे पीड़िता के परिजन

न्याय की आस में 2 माह से थाने का चक्कर लगा रहे पीड़िता के परिजन

आखिर पीड़िता को कब मिलेगा न्याय जब दो माह में तीन बार विपक्षियों से मार खा चुके है पीड़ित परिवार संवाददाता -यज्ञनारायण त्रिपाठी मोतीगंज,गोण्डा- आखिर पीड़ित परिवार को कब मिलेगा न्याय और पुरानी रंजिश को लेकर विपक्षियों ने बेटी को अकेला पाकर मारा पीटा बेटी को पीटता देख पिता बचाने दौड़ा तो उसे मारकर लहूलुहान

आखिर पीड़िता को कब मिलेगा न्याय जब दो माह में तीन बार विपक्षियों से मार खा चुके है पीड़ित परिवार

संवाददाता -यज्ञनारायण त्रिपाठी

मोतीगंज,गोण्डा-
आखिर पीड़ित परिवार को कब मिलेगा न्याय और पुरानी रंजिश को लेकर विपक्षियों ने बेटी को अकेला पाकर मारा पीटा बेटी को पीटता देख पिता बचाने दौड़ा तो उसे मारकर लहूलुहान कर दिया।

उक्त मामला मोतीगंज थाना क्षेत्र के कहोबा चौकी के तकिया बेलभरिया गांव का है।
उक्त गांव निवासिनी अन्तिमा मिश्रा पुत्री पारसनाथ मिश्रा द्वारा थाने में दी गई तहरीर में आरोप लगाया है कि गांव के विपक्षी दिलीप कुमार अश्वनी कुमार व विजय कुमार पुत्रगण देवता दीन तथा बिट्टू पत्नी विजय कुमार से पुरानी रंजिश चली आ रही है।

आज सुबह 7:30 बजे मुझे अकेली पाकर उपरोक्त लोगों ने मुझे अपशब्द कहते हुए गालियां दी,मैंने रोका तो मुझे चारों लोगों ने घेरकर मारना पीटना शुरू कर दिया।मुझे पिटता देख मेरे पिता पारसनाथ मिश्रा मुझे बचाने दौड़े तो उपरोक्त लोगों ने मुझे छोड़कर मेरे पिता को मारने पीटने लगे जिससे वो भी चोट खा कर लहूलुहान हो गए।

इस संबंध में अन्तिमा मिश्रा के पिता पारसनाथ मिश्रा ने आपबीती बताते हुए कहा कि उपरोक्त विपक्षी लोग दबंग किस्म के ब्यक्ति हैं। जो मेरे पड़ोसी हैं और मेरे घर के बीच जो कोलिया (रास्ता) आधे जमीन में नाली बनवा लिए हैं।जब आधे जमीन में प्रार्थी अपना नाली व सोख्ता बनवाना शुरू किया तो विपक्षी गण मुझे नाली नहीं बनवाने दिए।

इस संबंध में मैंने थाने पर प्रार्थना पत्र दिया कोई कार्यवाही नहीं हुई और परेशान होकर 4 जनवरी 2020 को समाधान दिवस में इस संबंध में एक प्रार्थना पत्र दिया लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। विपक्षी गण बार-बार एक राय होकर गाली गलौज दिया करते हैं और प्रार्थी के नाली व सोखता बनवाने मैं व्यवधान पैदा करते हैं।

जब प्रार्थी को न्याय नहीं मिला और विपक्षी गण परेशान करते रहे तो 8 फरवरी 2020 को मेरी पत्नी सुशीला देवी को उपरोक्त लोगों ने गाली गलौज देते हुए मारा पीटा थाने जाकर प्रार्थना पत्र दिया लेकिन न्याय नहीं मिली।

उक्त दबंगों के आगे मुझे न्याय नहीं मिल रहा है और पुलिस राजनीतिक दबाव में मुझे न्याय नहीं दे पा रही है। फिर आज 25 फरवरी 2020 को सुबह 7:30 बजे मेरी पुत्री को अकेला पाकर उपरोक्त लोगों ने मारा पीटा और जब मैं बचाने दौड़ा तो मुझे मारपीट कर लहूलुहान कर दिया।

इस संबंध में मोतीगंज थाना प्रभारी निरीक्षक कन्हई प्रसाद ने बताया कि अन्तिमा मिश्रा पुत्री पारसनाथ मिश्रा द्वारा प्रार्थना पत्र मिला है जिसे मुकदमा दर्ज कर ली गई है और विवेचना चौकी प्रभारी मनेन्द्र सिंह को सौंपी गई है।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel

साहित्य ज्योतिष

संजीव-नी।
संजीव-नीl
संजीव-नी।
संजीव-नी।
संजीवनी।