अधूरी सड़क से बाशिंदे परेशान, सड़क निर्माण की मांग

अधूरी सड़क से बाशिंदे परेशान, सड़क निर्माण की मांग

आटा। आटा-परासन मार्ग का निर्माण हुए करीब 16 वर्ष बीतने के बाद भी लोक निर्माण विभाग की बनाई गई सड़क 2800 मीटर अधूरी पड़ी है। जिससे ग्रामीणों को आवागमन में जब परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इससे लोगों में आक्रोश व्याप्त है।बता दें कि आटा परासन मार्ग का निर्माण करीब 16 वर्ष पूर्व

आटा। आटा-परासन मार्ग का निर्माण हुए करीब 16 वर्ष बीतने के बाद भी लोक निर्माण विभाग की बनाई गई सड़क 2800 मीटर अधूरी पड़ी है। जिससे ग्रामीणों को आवागमन में जब परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इससे लोगों में आक्रोश व्याप्त है।बता दें कि आटा परासन मार्ग का निर्माण करीब 16 वर्ष पूर्व लोक निर्माण विभाग द्वारा सड़क का निर्माण कराया गया था। उक्त मार्ग आटा से अकोड़ी व हरिशंकरी नहर पर मिलता है। मगर विभाग ने आटा से अकोड़ी के बड़े पुल तक का निर्माण कर 2800 मीटर सड़क बीच में अधूरी छोड़ दी है, जबकि इमिलिया से हरिशंकरी नहर तक पक्का निर्माण पूर्ण करा दिया है।

बीच में पड़ी अधूरी सड़क की वजह से यहां के बाशिंदों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, जिससे वहां से दो पहिया वाहनों को छोड़ पैदल चलने में लोगों कई बार सोचना पड़ता है, इस कच्ची बदहाल सड़क पर कई बार दो पहिया वाहन चालक गिरकर बुरी तरह चुटहिल हो चुके हैं, लेकिन प्रशासन ने इस बदहाल सड़क की तरफ अभी तक सुध नहीं ली है।विधानसभा चुनाव के दौरान कई नेताओं ने यहां वादे किए थे, लेकिन चुनाव खत्म होते ही सब बेमतलब रहा। हालत यह है कि सड़क पर बड़े बड़े गड्ढे हो गए हैं।

बारिश के दिनों में स्थिति और भयावह होती है। इस सड़क से अकोड़ी, बारा, पांडेपुर, आमिसा, कहटा, सुनहटा, परासन, इमिलिया आदि गांवों के लोग पूरी तरह इसी मार्ग पर निर्भर है। सड़क खराब होने से यहां के ग्रामीणों को मुख्यालय आने के लिए करीब 20 किमी का चक्कर लगाना पड़ता है।वहीं पर इमिलिया प्रधान अवधेश कुमार, आमिसा प्रधान फूलसिंह पाल, कहटा प्रधान छत्रपाल राजपूत आदि लोगों ने बताया कि अगर जल्द ही सड़क का निर्माण नहीं कराया गया तो वह सड़कों पर उतर कर प्रदर्शन करेंगे। अधिशाषी अभियंता बीए के रॉय ने बताया कि अधूरी सड़क की जानकारी है। सड़क का स्टीमेट बनाकर शासन को भेज दिया गया है।

बजट मिलते ही जल्द से जल्द खराब सड़क को बनवाया जाएगा।पुलिया भी टूटीसड़क के साथ-साथ इस मार्ग पर अकोड़ी पुलिया भी टूटी है, जिससे बाशिंदों को डर है कि रात में पुलिया टूटी होने से कोई भी अप्रिय घटना घट सकती हैं। ग्रामीणों की मांग है कि सड़क निर्माण से पहले पुलिया को अस्थायी तौर पर ठीक कराया जाए।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel