पहली बारिस में नगर पंचायत परिसर ही हुआ जलमग्न

पहली बारिस में नगर पंचायत परिसर ही हुआ जलमग्न

पहली बारिस में नगर पंचायत परिसर ही हुआ जलमग्न नेशनल हाईवे का नाला जाम होने से कई घरों में भरा पानी कस्बे वासियों ने नाला सफाई के लिए नपं में की शिकायत कबरई(महोबा)- पहली ही बारिस नेनगर पंचायत कबरई की तैयारियों की पोल खोल कर रख दी | आपको बताते चले रविवार की दोपहर हई तेज बारिस के दौरान कस्बे के कई मुहल्लों में जलभराव देखने

पहली बारिस में नगर पंचायत परिसर ही हुआ जलमग्न 

नेशनल हाईवे का नाला जाम होने से कई घरों में भरा पानी

कस्बे वासियों ने नाला सफाई के लिए नपं में की शिकायत 

कबरई(महोबा)- 

पहली ही बारिस नेनगर पंचायत कबरई की तैयारियों की पोल खोल कर रख दी | आपको बताते चले रविवार की दोपहर हई तेज बारिस के दौरान कस्बे के कई मुहल्लों में जलभराव देखने को मिला | हद तो तब हो गयी जब पहली ही बारिस के दौरान नगर पंचायत परिसर ही जलमग्न हो गया | जब नगर पंचायत परिसर के अन्दर ही नालियां चोक है तो आप इसी से अंदाजा लगा सकते हैं कि कस्बे की नालियां कितनी साफ़ होगी |

नगर पंचायत परिसर जैसा ही नजारा कबरई थाना में देखने को मिला जहाँ बारिस के दौरान थाना परिसर जलमग्न होकर तालाब नजर आ रहा था | इसी प्रकार से बीग गोदाम वाली गली के नाले जाम होने से पानी लोगों के घरों भे भर गया था |
कस्बे के झलकारी बाई नगर , अम्बेडकर नगर , किदवई नगर , इन्द्रा नगर सहित अन्य वार्डों में जलभराव से लोग परेशान होते नजर आये | झलकारी बाई नगर व अम्बेडकरनगर के लोगों में सुरेन्द्र , अर्जुन रामबाबू राजू , कैलाश , दीपू आदि लोगो ने शिकायती पत्र देकर नाला सफाई की मांग करते हुए उन्होंने आरोप लगाया है की एक साल से उनके यहाँ के नाले एक साल से साफ़ नहीं किये गये हैं जिससे बारिस होते ही पानी उनके घरों व दुकानों में भरने लगता हैं | 


 बारिस के दौरान हुए जलभराव को लेकर जब अधिशाषी अधिकारी से बात हुई तो उन्होंने कहा की बरसात के पूर्व ही सभी नाले साफ करवाए जा चुके है लेकिन फिर भी जहाँ जहाँ पर जलभराव की शिकायत आई हैं वहां पर तत्काल नगर पंचायत के कर्मचारियों को भेजकर नाले साफ करवाए जा रहे है साथ ही उन्होंने कहा झलकारी बाई और अम्बेडकरनगरमें जलभराव का मुख्य कारण पाण्डेय की पुलिया के पास बने नेशनल हाईवे का नाला जाम होना है | नगर पंचायत के लाख प्रयास के बावजूद नाला साफ नही हो पा रहा है क्योंकि मामला नेशनल हाईवे का है इसलिए उसे साफ़ करवाने के लिए नेशनल हाईवे के अधिकारीयों से बात करनी होगी |

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

सुप्रीम कोर्ट ने दी गौतम नवलखा को जमानत- '4 साल में भी आरोप तय नहीं'। सुप्रीम कोर्ट ने दी गौतम नवलखा को जमानत- '4 साल में भी आरोप तय नहीं'।
स्वंतत्र प्रभात ब्यूरो।     सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को एल्गार परिषद-माओवादी संबंध मामले में मानवाधिकार कार्यकर्ता गौतम नवलखा को जमानत दे...

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel