सीएमओ के आदेशों को ठेंगा दिखा रहे हैं झोलाछाप डॉक्टर

सीएमओ के आदेशों को ठेंगा दिखा रहे हैं झोलाछाप डॉक्टर

झोला छाप डाक्टरों पर कार्यवाही के नाम पर ताथा थइया सीएमओ मारा छापा कार्यवाही के नाम पर कुछ भी नहीं उरई (जालौन)।शासन की मंशानुसार जिले की मुख्यचिकित्साधिकारी अल्पना बरतरिया ने डकोर थानाअन्तर्गत के ग्राम चिल्ली में छापा मारकरके झोला छाप डाक्टर जीपी निषाद के क्लीनिक पर भारी मात्रा में जेनरिक की दवाईयों को बरामद किया

झोला छाप डाक्टरों पर कार्यवाही के नाम पर ताथा थइया

सीएमओ मारा छापा कार्यवाही के नाम पर कुछ भी नहीं

उरई (जालौन)।शासन की मंशानुसार जिले की मुख्यचिकित्साधिकारी अल्पना बरतरिया ने डकोर थानाअन्तर्गत के ग्राम चिल्ली में छापा मारकरके झोला छाप डाक्टर जीपी निषाद के क्लीनिक पर भारी मात्रा में जेनरिक की दवाईयों को बरामद किया था मौके से झोला छाप डाक्टर जीपी निषाद फरार हो गया थाप्राप्त जानकारी के अनुसार बताया गया कि क्लीनिक में बरामद की गयी दवाईयों को तीन कागज के गत्तों में भरवा करके अपनी गाड़ी से ले गयी थी क्योकिं उक्त झोलाछाप डाक्टर जीपी निषाद मौका देख करके भाग गया और अपना मोबाइल फोन नम्बर को स्वीच आफ कर लिया था

जिस पर तिलमिला करके सीएमओ बरतरिया ने ग्राम के कई लोगों से ताला माँगा गया लेकिन नहीं मिला जिसके बाद में एक परिचित व्यक्ति सुशील कुमार से ताला ले करके मकान मालिक के सामने लगवा दिया गया था और उक्त झोला छाप डाक्टर को अपने आफिस में बलाया था जिसके दूसरे उक्त डाक्टर सीएमओ आफिस में जाने बाद वापस आने के बाद उक्त डाक्टर ने ताला को काट डाला था उक्त ग्रामीणी सुशील कुमार ने अपना ताला डाक्टर के यहाँ से मँगवाया तो सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी में बताया गया

कि डाक्टर जीपी निषाद पिछले कुछ वर्षों पहले जिगनी गाँव में से भाग करके आया जहाँ पर उक्त डाक्टर द्वारा अप्रिय घटना में जूतम पैजार हुई थी उक्त डाक्टर नटवर लाल की तरह के रोल करके अपने आपको एबीबीएस या दूसरी कोई लाईसेन्स होल्डर बताता है और डाक्टर ने कहा है कि सीएमओ मेडम को एक मिठाई के डिब्बे के साथ मोटी रकम देकरके आया है जिसकी बजह से डाक्टर ने पु:ना अपनी क्लीनिक संचालित करने लगा है जबकि जिस ग्रामीण के व्यक्ति ने ताला दिया था उस व्यक्ति को समूचे ग्राम में बदनाम कर रहा है कि ताला देने वाले ने ही मेरी क्लीनिक को पकड़वा दिया है।

सीएमओ ने क्या कहा है

उरई। डाक्टर के विषय में सूत्रों के हवाले मिली खबरों की जानकारी के विषय में बताया गया तो सीएमओ ने तिलमिला करके उक्त झोला छाप डाक्टर को भगा दिया है जिस पर सीएमओ बरतिरया ने पुलिस को भेजे गये लेटर की कापी दिखाते हुये मौके पर तुरन्त डकोर पुलिस के साथ दो लोग डाक्टरों की टीम को लेकरके क्लीनिक को पु:ना ग्रामीण के लालू महाराज से ताला लेकरके लगवा दिया गया औपचारिक रूप से पुलिस को सूचना देते होते हुये कार्यवाही का भरोसा दिया है
झोला छाप डाक्टर ने फिर से क्लीनिक संचालित करने लगा है
विभागीय अधिकारी का आदेश हुआ हवाहवाई यदि विभाग द्वारा लगवाया गया ताला देखा जाये तो डाक्टर की दबंगी देखने को मिल जायेगी आखिरकार ताला को नये तरीके से क्यों लगवाया जाता है कि ताला रात के अँधेरे में खुल जाये यह बातें ग्रामीणी लोगों ने अपना नाम न छापने की शर्त पर बताई गयी है क्योंकि यह सीएमओ द्वारा छापामार कार्यवाही से घबरा करके ग्राम के ही एक व्यक्ति को बदनाम कर रहा है जिसका उक्त डाक्टर से कोई लेना देना ही नहीं है जबकि पिछले दशक से उक्त व्यक्ति इलाज का कार्य बन्द कर चुका है।
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel

साहित्य ज्योतिष