पालिका: भ्रष्टाचार भी जारी है, और जाँच भी

पालिका: भ्रष्टाचार भी जारी है, और जाँच भी

प्रशासन द्वारा कार्यवाही न करने के कारण पालिका में बढ़ा भ्रष्टाचार का ग्राफ कार्यालय में प्रतिदिन होती नये भ्रष्टाचार की तैयारी ललितपुर। नगर पालिका में निरन्तर चले भ्रष्टाचार पर लगाम नहीं लग रही है। प्रशासन के द्वारा कार्यवाही न करने की दशा में पालिका में तैनात भ्रष्टाचारियों के हौसले बुलन्द हैं। हालही में एक ऐसा

प्रशासन द्वारा कार्यवाही न करने के कारण पालिका में बढ़ा भ्रष्टाचार का ग्राफ

कार्यालय में प्रतिदिन होती नये भ्रष्टाचार की तैयारी

ललितपुर।

नगर पालिका में निरन्तर चले भ्रष्टाचार पर लगाम नहीं लग रही है। प्रशासन के द्वारा कार्यवाही न करने की दशा में पालिका में तैनात भ्रष्टाचारियों के हौसले बुलन्द हैं। हालही में एक ऐसा ही प्रकरण प्रकाश में आया है, जहाँ पर पालिका ने छुट्टी के दिन एक ही दिन में निविदा प्रक्रिया पूर्ण कर दी। पालिका व प्रशासन की वर्तमान कार्य प्रणाली को देखकर तो आम जनता के मुंह पर एक कथन है, कि भ्रष्टाचार भी जारी है और जाँच भी। नगर पालिका मेें फैले भ्रष्टाचार को लेकर विगत एक वर्ष से प्रशासन द्वारा जाँच करायी जा रही है। कई बिन्दुओं पर पालिका द्वारा नियम विरूद्ध तरीके से निविदा प्रक्रिया कर पालिका धन को क्षति पहुँचाई है। साथ पालिका के पार्षदों ने भी साक्ष्यों से सहित पालिका की कार्य प्रणाली सवालिया निशान लगाते हुये शिकायत की थी, इसके बाद जिला प्रशासन द्वारा उक्त प्रकरण जाँच करायी गयी, प्रारम्भिक जाँच के बाद सेवा प्रदात्ता के खिलाफ एफआईदर्ज करा कर प्रशासन ने कार्यवाही की इतिश्री कर ली। साथ ही अन्य बिन्दुओं के जाँच में चूँकि पालिका अध्यक्ष सहित कई अधिकारी कर्मचारी भी कार्यवाही की जद में आ रहे थे। किन्तु ऐसा नहीं किया गया। जिससे पालिका में तैनात भ्रष्ट अधिकारियों को बल मिल रहा है, इसी कारण पालिका में प्रतिदिन किसी न किसी भ्रष्टाचार की रणनीति तैयार की जाती है। जिससे की पालिका के धन को लूटा जा सके। हालही में पालिका द्वारा तार, नट बोल्ट, पाईप कलैम्प सहित 11 लाख 50 हजार रुपये की निविदा जारी की गयी। उक्त प्रकरण में पालिका ने जैम पोर्टल से खरीदी न करते हुये, मैनुयल निविदा डाली। पालिका द्वारा निविदायें तो अधिक बेची गयी, किन्तु ठेकेदारों को निविदा नहीं डालने दिया गया। जिससे ठेकेदार पालिका धन का भारी क्षति तो पहुंची ही, साथ ही उक्त प्रक्रिया 2 जनवरी में को पूर्ण की, जबकि उस दिन शासकीय अवकाश था। जबकि पालिका द्वारा निविदा प्रकाशन के समय स्पष्ट किया गया था, कि अगर निविदा खोले वाले दिन अवकाश होता है, तो अगले किसी कार्यदिवस में निविदा प्रक्रिया पूर्ण की जायेगी। आरोप तो यह भी है कि पालिका द्वारा साजिश कर निविदा डाले जाने व खोले जाने की तिथि एक ही रखी, साथ ही पूर्ण नियोजित कार्यक्रम के तहत यह अवकाश वाले दिन रखा गया है।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

राज्य उचित प्रक्रिया के बिना संपत्ति का अधिग्रहण नहीं कर सकता ।संपत्ति का अधिकार एक संवैधानिक अधिकार है। -सुप्रीम कोर्ट। राज्य उचित प्रक्रिया के बिना संपत्ति का अधिग्रहण नहीं कर सकता ।संपत्ति का अधिकार एक संवैधानिक अधिकार है। -सुप्रीम कोर्ट।
        स्वतंत्र प्रभात ब्यूरो।     सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को निजी संपत्ति को "सार्वजनिक उद्देश्य" के लिए राज्य के मनमाने अधिग्रहण

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel