ट्रेड यूनियनों का भारत बंद, सबसे ज्यादा इन राज्‍यों पर दिखा असर

ट्रेड यूनियनों का भारत बंद, सबसे ज्यादा इन राज्‍यों पर दिखा असर

स्वतंत्र प्रभात – आज देश भर में ट्रेड यूनियन द्वारा बलाई गयी देशव्यापी बंद का असर सबसे ज्यादा पश्चिम बंगाल और ओड़िशा में नज़र आ रहा है। यहां ट्रेन और सड़क परिवहन सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ। इसके साथ ही बिहार में भी बंद का असर देखने को मिला है। पटना में छात्र संगठनों ने काफी

स्वतंत्र प्रभात –

आज देश भर में ट्रेड यूनियन द्वारा बलाई गयी देशव्यापी बंद का असर सबसे ज्यादा पश्चिम बंगाल और ओड़िशा में नज़र आ रहा है। यहां ट्रेन और सड़क परिवहन सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ। इसके साथ ही बिहार में भी बंद का असर देखने को मिला है। पटना में छात्र संगठनों ने काफी बवाल मचा रखा है। राजेंद्र नगर के पास ट्रेन रोकने की कोशिश हुई। पुलिस द्वारा छात्र नेताओं को स्टेशन से हटाया गया। ट्रेड यूनियन का कहना है कि केंद्र की तरफ से आर्थिक, शिक्षण संस्थानों में फीस बढ़ाने का और जन विरोधी नीतियों को लागू किया जा रहा है।

जानकारी के लिए आपको बता दे की दस ट्रेड यूनियनों ने आज केंद्रीय सरकार की मजदूर विरोधी नीतियों के खिलाफ भारत बांध का आह्वान किया है। ट्रेड यूनियनों द्वारा बुलाए गए बंद के दौरान तमिलनाडु के चेन्नई में माउंट रोड पर प्रदर्शन। पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना में हृदयपुर स्टेशन के पास रेलवे ट्रैक से पुलिस द्वारा चार देसी बम बरामद किए गए हैं।

वही देशव्यापी बंद के मद्देनजर केरल के तिरुवनंतपुरम में एक विरोध मार्च निकाला गया। ट्रेड यूनियनों द्वारा बुलाए गए बंद के दौरान मुंबई में भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड के कर्मचारियों ने भारत पेट्रोलियम के रणनीतिक विनिवेश के सरकार के फैसले का विरोध किया।

ट्रेड यूनियनों द्वारा बुलाए गए भारत बंद के दौरान विरोध प्रदर्शन के मद्देनजर सिलीगुड़ी में उत्तर बंगाल राज्य परिवहन निगम (NBSTC)का बस ड्राइवर हेलमेट पहनकर बस चलाता दिखाई दिया।

पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना के काचरापाड़ा में भी प्रदर्शनकारियों ने रेलवे ट्रैक जाम कर दिया। ट्रेड यूनियनों ने भारत बंद का आह्वान किया है। इससे पहले प्रदर्शनकारियों ने हावड़ा में रेलवे ट्रैक को ब्लॉक कर दिया था।

पश्चिम बंगाल में प्रदर्शनकारियों ने हावड़ा में रेलवे ट्रैक को ब्लॉक कर दिया। बता दें ट्रेड यूनियनों ने आज भारत बंद का आह्वान किया है।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती? सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती?
सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को चुनाव आयोग को उस याचिका पर जवाब दाखिल करने के लिये एक सप्ताह का समय...

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel

साहित्य ज्योतिष