फसलों को आवारा पशुओं से बचाने के लिए किसानों ने बुलन्द की आवाज

फसलों को आवारा पशुओं से बचाने के लिए किसानों ने बुलन्द की आवाज

●समस्या हल न होने पर किसान करेंगे आंदोलन● किसानों ने कोरोना गाइडलाइंस के साथ दिया ज्ञापन तिंदवारी(बाँदा)। कस्बे में स्थित नगर पंचायत के कार्यालय में कस्बे के किसान एकजुट होकर अपनी फसलों को आवारा पशुओं से बचाने के लिए नगर पंचायत प्रतिनिधि को ज्ञापन सौंपा। मंगलवार को किसानों की आवाज बनकर सामने आने वाले किसान

●समस्या  हल न होने पर किसान करेंगे आंदोलन● किसानों ने कोरोना गाइडलाइंस के साथ दिया ज्ञापन


तिंदवारी(बाँदा)। कस्बे में स्थित नगर पंचायत के कार्यालय में कस्बे के  किसान एकजुट होकर अपनी फसलों को आवारा पशुओं से बचाने के लिए नगर पंचायत प्रतिनिधि को ज्ञापन सौंपा।  मंगलवार को किसानों की आवाज बनकर सामने आने वाले किसान दलित युवा चेतना संघ के जिला अध्यक्ष राजेंद्र द्विवेदी ने नगर पंचायत के कार्यालय में तीन दर्जन से ज्यादा किसानों के साथ मिलकर अन्ना पशुओं के द्वारा हो रही बर्बाद फसलों को बचाने के लिए चेयरमैन प्रतिनिधि भूरेलाल फौजी को ज्ञापन दिया।

वहीं श्री द्विवेदी ने बताया कि कस्बे में आवारा पशुओं की संख्या बढ़ जाने से किसानों की मूंग,उरद, तिली की फसलें बर्बाद हो गई हैं कुछ बची धान की फसल वह भी बर्बाद हो रही है ,जिसकी तत्काल प्रभाव से कस्बे में बने गौशाला में अन्ना पशुओं को रख कर इस गम्भीर समस्या से निजात दिलाने की मांग की।   इस अवसर पर पूर्व चेयरमैन प्रतिनिधि रमाकांत सिंह पटेल, राजेश सिंह, जयप्रकाश सिंह, जगरूप सिंह, हरिओम त्रिपाठी, रामपाल सिंह, समर सिंह, झण्डीलाल सिंह, अतुल दीक्षित, ब्रजकिशोर, जगतपाल यादव, मानसिंह, उमाकांत तिवारी सहित भारी संख्या में किसान मौजूद रहे।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

राज्य उचित प्रक्रिया के बिना संपत्ति का अधिग्रहण नहीं कर सकता ।संपत्ति का अधिकार एक संवैधानिक अधिकार है। -सुप्रीम कोर्ट। राज्य उचित प्रक्रिया के बिना संपत्ति का अधिग्रहण नहीं कर सकता ।संपत्ति का अधिकार एक संवैधानिक अधिकार है। -सुप्रीम कोर्ट।
        स्वतंत्र प्रभात ब्यूरो।     सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को निजी संपत्ति को "सार्वजनिक उद्देश्य" के लिए राज्य के मनमाने अधिग्रहण

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel