आम की फसल का भाव अच्छा होने से खिले बागवानों के चेहरे

आम की फसल का भाव अच्छा होने से खिले बागवानों के चेहरे

सीतापुर,महमूदाबाद शुरुआती तौर पर बागों में रोग लग जाने से बागवान काफी परेशान हुए और बागों में अनेकों प्रकार की दवाओं का छिड़काव किया । अब आम तैयारी पर है और कई जगहों पर आम की टूट भी शुरू हो गई है, जिसकी पहले खेप राजस्थान व हरियाणा के लिए भेजी जा चुकी है पहले दशहरी आम को तोड़ा जा रहा है, और 1 जून से स्थानीय मंडियों जैसे संडीला, सीतापुर, लखीमपुर, मैगलगंज ,हरदोई ,लखनऊ , में भी नजर आने लगेगा।आम का शुरुआती भाव मिला अच्छा बागवान खुश  आम का शुरुआती भाव अच्छा मिलने से बागवान काफी खुश नजर आ रहे हैं और आगे भी प्रयास लगाया जा रहे हैं कि भाव अच्छा ही रहेगा शुरुआती भाव 3000 से लेकर ₹3500 प्रति कुंतल है, अबकी बार आंधी ना आने से किसानों को काफी रहता है जिससे बागवानों को ज्यादा कोई नुकसान नहीं हुआ है, शेष बची फसल को देखकर बागवान काफी खुश हैं।
 
 असगर अली - ने बताया कि पिछले साल हमारा काफी नुकसान हुआ था अबकी बार की फसल से पिछले साल हुए नुकसान की भरपाई हो जाएगी। अतीक अहमद ने बताया कि बीच में कीट ने बागवानों को काफी नुकसान किया जिसे देखकर हम सब परेशान हुए अब शेष फसल को देखकर व अच्छा भाव मिलने से हम काफी खुश हैं।
 
मोतीलाल - ने बताया कि पिछले साल की फसल व रेट से इस साल की फसल व रेट अच्छा मिलने से हमें खुशी है। बात की जाए तो महमूदाबाद भी अपने मे खास है जो लखपेड़ाबाग में बहुत से किस्मो के आम की प्रजातियां देखने को मिलती है जैसे सुंदरियां,नीबू,गुलाब खास,कला गुड़,बर्फी,बताशा आदि आमो का स्वाद चखा जा सकता है। नदीम अहमद नेता वा एजाज राइन ने बताया महमूदाबाद के आमो की खाश बात है जो लोगो को बहुत पसन्द है,खास कर सुंदरियां आम ।
 
नदीम- ने बताया अबकी बार फसल का रेट तो बहुत ही अच्छा है पर दवा का छिड़काव वा सिंचाई की वजह से ज्यादा बचत नही हो पा रही है कई प्रदेशों में मशहूर है औरंगाबाद आम -  मलिहाबाद के बाद औरंगाबाद ,महमूदाबाद प्रदेश स्तर पर काफी मशहूर है और यहां कई प्रदेशों के व्यापारी यहां आकर आम खरीद कर अपने-अपने प्रदेश को आपूर्ति हेतु भेजते हैं, औरंगाबाद से राजस्थान ,दिल्ली, उड़ीसा, गुजरात, महाराष्ट्र ,मध्यप्रदेश, बिहार, हरियाणा, पंजाब, आदि राज्यों में भेजा जाता है।
प्रजातियां -  दशहरी ,लखनऊवा, चौसा, फ़ाज़ली,लंगड़ा ,सफेद ,बम्बईया, अंबिन, मालदा आदि प्रजातियां यहां पाई जाती हैं ।

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

देश के 21 राज्यों से 150 शिक्षाविद कल पहुंचेंगे कृषि विश्वविद्यालय आयोजित  बैठक में लेंगे हिस्सा देश के 21 राज्यों से 150 शिक्षाविद कल पहुंचेंगे कृषि विश्वविद्यालय आयोजित  बैठक में लेंगे हिस्सा
मिल्कीपुर, अयोध्या। आचार्य नरेंद्र देव कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय  में आज से तीन दिनों तक शिक्षाविदों का जमावड़ा रहेगा। इस...

अंतर्राष्ट्रीय

Italy में मेलोनी ने की खास तैयारी जी-7 दिखेगी मोदी 3.0 की धमक Italy में मेलोनी ने की खास तैयारी जी-7 दिखेगी मोदी 3.0 की धमक
International Desk इटली की प्रधानमंत्री जार्जिया मेलोनी के निमंत्रण पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 14 जून को 50वें जी-7 शिखर सम्मेलन...

Online Channel