सीएमओ के आदेश की उड़ रही है धज्जियां

दो वर्ष पूर्व जारी किया गया था आदेश

सीएमओ के आदेश की उड़ रही है धज्जियां

90 चिकित्सालयों का आनलाइन आवेदन निरस्त

मीरजापुर। ग्रामीण क्षेत्रो में झोलाछाप डॉक्टरों की डॉक्टरी गर्मी के मौसम में एकदम उफान पर रहता है। जिसकी जांच विभागीय स्तर पर लगातार किया जाता रहा है। इसके पूर्व शासनादेश को देखते हुए सीएमओ स्तर से एक आदेश जारी किया गया था कि जिले के निजी नर्सिगहोम व चिकित्सालय के संचालक मेन गेट पर चिकित्सालय के सभी कर्मचारी वडॉक्टरों की सूची को चस्पा करने का कार्य करेगे। परन्तु इस आदेश का आज तक कोई पालन नही किया गया है जबकि सभी चिकित्सालय मनमाने तरीके से दवा देने ववसूली करने का कार्य लगातार कर रहे है और विभाग के आदेशो की अवहेलना कर रहे है।
 
मुख्य चिकित्साधिकारी डॉक्टर सी0एल0 वर्मा ने बताया कि अब विभाग स्तर से सफाये व कार्यवाही की पूरी तैयारी कर ली गई है किसी का भी कोई बचने की कोई गुजाइश नही रहेगी। जिले में लगातार कुछ चिकित्सालयो की शिकायत मिल रही है जो मानक को पूरा किये बिना ही अपने चिकित्सालय को चलाने का कार्य कर रहे है और अनुभवहीन डॉक्टरो के द्वारा उपचार कराया जा रहा है। इसके साथ ही प्रसव, सर्जरी के नाम पर बड़ी रकम को वसूलने का कार्य कर रहे है। चिकित्सालयों में दलालों के माध्यम से बहला फुसलाकर मरीजों को लाया जा रहा है। और उनसे धनउगाही काकार्य किया जा रहा है।
 
उन्होने बताया कि इस तरह के नर्सिग होम व चिकित्सालय या झोलाछाप डॉक्टर राजगढ़, मड़िहान, लालगंज, हलिया व छानबे विकास खण्ड में अधिकतर मिल रहे है। अभी हाल में विभाग द्वारा 90 चिकित्सालयों को आनलाइन आवेदन को निरस्त कर दिया गया है । लेकिन अब 01 जून से जिन निजी चिकित्सालयों के बाहर अगर कर्मचारियों व डॉक्टरों की जानकारी नही मिली या झोलाछाप डॉक्टर के पास डिग्री नही पायी गई तो अब कार्यवाही करके जेल भेजने का कार्य किया जायेगा।
 
अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉक्टर गुलाब कुमार वर्मा ने बताया कि इसके पूर्व भी अहरौरा क्षेत्र की एक महिला जो छह माह की गर्भवती थी और उसका इलाज एक झोलाछाप कर रहा था। हालत बिगड़ी तो महिला के घरवालों के हाथ.पांव फूल गए और वे उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र ले आए। यदि उसे समय से सीएचसी परलाया जाता तो उसे बचाया जा सकता था।  कोरोना काल से पहले अभियान चलाकर झोलाछाप डाक्टरों को जेल भेजा गया था। अब फिर कार्रवाई होगी।
 
जिला कार्यक्रम प्रबन्धक अजय सिंह ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की ओर से जनपद के सभी केन्द्रों पर तमाम सुविधाएं दी जा रही हैं जिससे क्षेत्र के मरीजों को किसी भी प्रकार की कठिनाई का सामना न करना पड़े परन्तु झोलाछाप के वजह से वे केन्द्र तक नहीं पहुंच पाते हैं और उनकी मृत्यु भी हो जाती है।इसलिए अब स्वास्थ्य विभाग झोलाछाप डाक्टरों पर बडी कार्रवाई करने जा रही है।

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

अंतर्राष्ट्रीय

Italy में मेलोनी ने की खास तैयारी जी-7 दिखेगी मोदी 3.0 की धमक Italy में मेलोनी ने की खास तैयारी जी-7 दिखेगी मोदी 3.0 की धमक
International Desk इटली की प्रधानमंत्री जार्जिया मेलोनी के निमंत्रण पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 14 जून को 50वें जी-7 शिखर सम्मेलन...

Online Channel