बिहार से यूपी में अनाधिकृत तरीके से संचालित वाहनों पर 2.23 लाख लगा जुर्माना

बिहार से यूपी में अनाधिकृत तरीके से संचालित वाहनों पर 2.23 लाख लगा जुर्माना

कुशीनगर। जनपद में बिहार राज्य के बेतिया, बॉसी, पड़रौना, कप्तानगंज, पिपराईच होते हुए गोरखपुर तक तथा अन्य अनाधिकृत रूप से संचालित वाहनों के प्रति प्राप्त हो रही शिकायतों को संज्ञान में लेते हुए, उनके विरूद्ध प्रवर्तन कार्यवाही करने हेतु सम्भागीय परिवहन अधिकारी गोरखपुर द्वारा दिये गये निर्देश के कम में आज शुक्रवार को प्रवर्तन दल गोरखपुर तथा कुशीनगर द्वारा पड़रौना-कप्तानगंज, पड़रौना-कसया, पड़रौना जटहाँ, मार्ग पर विशेष चेकिंग अभियान चलाया गया, जिसमें कुल 20 वाहनों को चालान कर 06 वाहन थाने में निरूद्ध किया गया तथा रू0 2.23 लाख प्रशमन शुल्क अधिरोपित किया गया।
 
नरेन्द्र यादव, सहायक सम्भागीय परिवहन अधिकारी (प्रवर्तन), गोरखपुर द्वारा गोरखपुर-पिपराईच-कप्तागंज-रामकोला मार्गों पर चेकिंग कर 06 वाहनों के प्रति चालान की कार्यवाही करते हुए 02 वाहन थाना-पिपराईच में निरूद्ध किया गया है, तथा 0.69 लाख प्रशमन शुल्क अधिरोपित किया गया है। तो मो० अजीम, सहायक सम्भागीय परिवहन अधिकारी (प्रवर्तन), कुशीनगर द्वारा पड़रौना-कप्तानगंज, पड़रौना-कसया, पड़रौना जटहॉ मार्गों पर चेकिंग कर 05 वाहनों के प्रति चालान की कार्यवाही करते हुए 03 वाहन थाना-रविन्द्रनगर में निरूद्ध किया गया है, तथा 0.60 लाख प्रशमन शुल्क अधिरोपित किया गया है। वही रवि त्यागी, यात्री एवं माल कर अधिकारी, गोरखपुर द्वारा गोरखपुर-पिपराईच-कप्तागंज-रामकोला मार्गों पर चेकिंग कर 03 वाहनों के प्रति चालान की कार्यवाही किया गया है, तथा 0.39 लाख प्रशमन शुल्क अधिरोपित किया गया है।
अधिकारी, गोरखपुर बी० के० आनन्द यात्री एवं माल कर द्वारा गोरखपुर-पिपराईच-कप्तागंज-रामकोला मार्गों पर चेकिंग कर 06 वाहनों के प्रति चालान की कार्यवाही करते हुए 01 वाहन थाना-पिपराईच में निरूद्ध किया गया है, तथा 0.56 लाख प्रशमन शुल्क अधिरोपित किया गया है। आरटीओ अधिकारियों का कहना है कि जनपद में अनाधिकृत रूप से डग्गामार संचालित वाहनों के विरूद्ध निरन्तर प्रवर्तन की कार्यवाही की जाती है, तथा आगे भी की जायेगी।

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती? सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती?
सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को चुनाव आयोग को उस याचिका पर जवाब दाखिल करने के लिये एक सप्ताह का समय...

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel

साहित्य ज्योतिष