अब कृषि विश्वविद्यालय में चखिए श्री अन्न से बने व्यंजन का स्वाद, कुलपति ने किया विक्रय केंद्र का उद्घाटन 

अब कृषि विश्वविद्यालय में चखिए श्री अन्न से बने व्यंजन का स्वाद, कुलपति ने किया विक्रय केंद्र का उद्घाटन 

मिल्कीपुर अयोध्या। श्री अन्न से तैयार स्वादिष्ट उत्पादों का स्वाद अब सभी लोग चख सकेंगे। इसकी बिक्री कृषि विश्वविद्यालय कुमारगंज में शुक्रवार से शुरू हो गई है। इस विक्रय केंद्र का उद्घाटन कुलपति डॉ. बिजेंद्र सिंह ने किया। मुख्य परिसर स्थित भारतीय स्टेट बैंक के बगल में इस केंद्र का निर्माण किया गया है। इस केंद्र से मोटे अनाज से बने निर्मित उत्पादों के अलावा मौसम आधारित उत्पादों का भी लोग आनंद ले सकेंगे।
 सामुदायिक महाविद्यालय की अधिष्ठाता डॉ. साधना सिंह ने बताया कि यह विक्रय केंद्र विश्वविद्यालय कार्य दिवस में एक से तीन बजे तक खुला रहेगा। इस केंद्र पर मोटे अनाज से बने उत्पाद सावां का लट्ठा 30 रुपये में 100 ग्राम, बाजरे का लड्डू 60 रुपये में 100 ग्राम, मिक्सड मिलेट नमकीन 37 रुपये में 100 ग्राम, रागी की इडली 30 रुपये में 100 ग्राम के हिसाब से ग्राहक खाद्य उत्पादों की खरीदारी कर सकते हैं। यही नहीं इसके अलावा मौसम पर आधारित उत्पादों की बिक्री भी की जाएगी। 
 डॉ. साधना ने बताया कि गर्मी से बचने के लिए मट्ठा, नीबू पानी के अलावा ग्रीन टी, चाय की भी बिक्री होगी। विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राएं, शिक्षक, कर्मचारी के अतिरिक्त बाहरी लोगों के लिए भी इस
केंद्र पर सुविधा उपलब्ध रहेगी। बता दें की सामुदायिक विज्ञान महाविद्यालय में भ्रमण पर पहुंचे स्कूली छात्र छात्राओं एवं किसानों को लंबे समय से श्री अन्न से बने उत्पादों का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इस मौके पर विश्वविद्यालय के समस्त अधिष्ठाता, निदेशक, कुलपति के सचिव, इंजीनियर, सुरक्षा अधिकारी एवं सामुदायिक महाविद्यालय के शिक्षक एवं कर्मचारी मौजूद रहे।

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती? सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती?
सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को चुनाव आयोग को उस याचिका पर जवाब दाखिल करने के लिये एक सप्ताह का समय...

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel

साहित्य ज्योतिष