विद्यालय बना ब्यूटी पार्लर, विरोध शिक्षिका को पड़ा महंगा

प्रधानाध्यापक ने शिक्षिका को दांतों से काटकर किया लहूलुहान

विद्यालय बना ब्यूटी पार्लर, विरोध शिक्षिका को पड़ा महंगा

बेसिक शिक्षा अधिकारी का ध्यान भी नही रहता है स्कूलों में बच्चों की अच्छी शिक्षा पर

यही कारण है आज सरकारी विद्यालयों में सारी व्यवस्था होने के बावजूद लोग प्राइवेट विद्यालय में अपने बच्चों को पढ़ाने पर होते हैं मजबूर

मो.अरमान विशेष संवाददाता

उन्नाव। आज सरकार स्कूलों को लेकर बड़े बड़े दावे करती नजर आती है। मुफ्त शिक्षा, मुफ्त ड्रेस, और मिड डे मील पर सरकार जनता का काफी पैसा खर्च रही है। इतनी सुविधाएं होने के बावजूद आज लोग अपने बच्चों को सरकारी विद्यालयों में पढाना नही चाहते। इसका कारण है वहां पोस्टेड शिक्षकों की लापरवाही। शिक्षक बच्चो को पढ़ाने में तनिक भी रुचि नहीं रखते। कहीं शिक्षक अखबार पढ़कर, कहीं मैगजीन पढ़कर, तो कहीं शिक्षिकाओं के साथ गप्प मारकर समय व्यतीत करते हैं।

जिसके सुधार पर सरकार का ध्यान केंद्रित नही हो पाता। और सरकारी शिक्षक मोटी रकम सरकार से लेकर मौज करते नजर आते हैं। मामला बीघापुर क्षेत्र का बताया जाता है थाना बीघापुर क्षेत्र के ग्राम पंचायत दादा मऊ के अंतर्गत आने वाले विद्यालय को वहां की प्रधानाध्यापक ने ब्यूटी पार्लर बना रक्खा है जहां वो आए दिन अपने सहयोगियों के साथ अपने चेहरे के सुधार पर ध्यान केंद्रित करती हैं। क्योंकि तनख्वाह तो आसानी से मिल ही जाती है यदि बेसिक शिक्षा अधिकारी का जरा भी ध्यान स्कूलों के सुचारू रूप से संचालन और बच्चों की उच्च शिक्षा पर होता तो शायद आज सरकारी विद्यालयों का हाल इतना बुरा न होता। सोशल मीडिया पर एक वीडियो जमकर वायरल हो रहा है

हालांकि स्वतंत्र प्रभात वायरल वीडियो की पुष्टि नहीं करता जिसमे एक शिक्षिका अमन के हाथ में दांतों से काटने का निशान और हाथ में कई जगह चोट के निशान दिखाकर बताया गया कि बृहस्पतिवार को प्रधानाध्यापक संगीता सिंह द्वारा सुबह 10:20 पर अपने चेहरे पर एक सहयोगी द्वारा फेशियल कराया जा रहा था। जिसका विरोध सहयोगी शिक्षिका अमन ने किया। जिससे क्रोधित होकर प्रधानाध्यापक ने कहा मैं जो चाहूंगी वह करूंगी यह मेरा विद्यालय है मैं यहां की प्रधानाध्यापक हूं। और सहयोगी शिक्षिका अमन के साथ मारपीट शुरू कर दी। दांतों से शरीर के विभिन्न हिस्सों में काटकर घायल कर दिया। तथा पास में पड़े पत्थर को उठाकर जान से मारने का प्रयास किया। जिससे उसके शरीर पर काफी चोटें आई है।

शिक्षिका अमन का आरोप है कि उसका मोबाइल भी पटककर तोड़ दिया और धमकी दी कि मेरा पति पवन सिंह वी आर सी कार्यालय बीघापुर में बैठता है। मैं तुम्हें इस विद्यालय में घुसने तक नहीं दूंगी। चीख पुकार एवं बचाव की आवाज सुनकर आसपास के लोग इकट्ठा हो गए। वहां मौजूद लोगों ने शिक्षिका अमन को थाना बीघापुर तक पहुंचाया। थानाध्यक्ष बीघापुर ने बताया कि प्रार्थनापत्र मिला है मुकदमा धारा 323,506,427 के तहत दर्ज कर लिया गया है।

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती? सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती?
सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को चुनाव आयोग को उस याचिका पर जवाब दाखिल करने के लिये एक सप्ताह का समय...

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel

साहित्य ज्योतिष