मैं सरकार, किसानों के बीच मध्यस्थता को तैयारः जयंत

-समस्या का हल निकलना चाहिए, पिछली बार बहुत लम्बा खिंचा था आंदोलन

मैं सरकार, किसानों के बीच मध्यस्थता को तैयारः जयंत

स्वतंत्र प्रभात 
मथुरा। इंडिया गठबंधन के पुराने साथियों का साथ छोड़ने के बाद पहली बार मथुरा आये राष्ट्रीय लोकदल के राष्ट्रीय अध्यक्ष जयंत चौधरी ने कहा कि राज्यसभा चुनाव में वोटिंग को लेकर हमारी पार्टी के सभी विधायक यहां एकत्रित हुए हैं। हमने एक मत से फैसला लिया है और सभी विधायक पार्टी के साथ हैं। यह जग जाहिर हो चुका है कि हम अब इंडिया गठबंधन के साथ नहीं है। उन्होंने कहा कि सरकार और किसानों के बीच मध्यस्थता के लिए तैयार हैं। अगर उन्हें वहां भेजा जाता है तो वह जाने के लिए तैयार हैं।

10 साल हम विपक्ष में थे, प्रखर जिस मुद्दे का विरोध हम ने किया था सभी राजनीतिक दलों में रालोद के कार्यकर्ता सडक पर थे। किसान आंदोलन पर कहा कि किसानों की समस्याओं का हल निकलना चाहिए। कई दौर की बातचीत हो चुकी है। पिछली बार बहुत लम्बे समय तक आंदोलन चलता रहा। सरकार और किसानों के बीच उस तरह का संवाद स्थापित नहीं हो पाया था। कुछ ही दिन में कई बार बडे बडे मंत्रियों को वहां भेजा गया है। पंजाब सरकार के मुख्यमंत्री को भी बैठक में शामिल किया गया है। तो यह सिर्फ एक पार्टी तक सीमित नहीं है। विभिन्न राज्यों की सरकारों से भी राय ली जा रही है, कि किस तरह से हल निकाला जा सकता है। मथुरा से चुनाव लडने के सवाल पर कहा कि अब तक ऐसा कोई निर्णय उन्होंने नहीं लिया है और नहीं इस बारे में अभी कुछ सोचा गया है। जब गठबंधन की घोषणा हो जाएगी तब सीट वाइज हम चर्चा करेंगे।

भाजपा के साथ जाने पर कहा कि कुछ तो हद्य परिवर्तन हुआ है। सरकार और विपक्ष के बीच में विपक्ष की एक जिम्मेदार होती है कि सरकार की कमियों को उजागर करें, वहीं हमारी नैतिकता थी। उन्होंने जाट नेता होने के सवाल पर कहा कि रालोद जाटों की पार्टी नहीं है। मैं इस बात को दोहरा कर थक चुका हूं फिर मेरी बात को अलग अलग ढंग से दिखाया जाता है। हम किसानों, मजदूरों और नौजवानों की आकांक्षाओं को आगे बढ़ाने के लिए मेहनत करते हैं।

यहा रहा जयंत चौधरी का कार्यक्रम
रविवार को राज्यसभा सांसद रालोद मुखिया जयंत चौधरी आज मथुरा पहुंचे। जहां उन्होंने अपने आवास पर विधायकों के साथ में मीटिंग की, इसके बाद सिविल लाइन एरिया में चल रहे धनगर समाज के अनिश्चितकालीन चल रहे धरने में जयंत चौधरी शामिल हुए। जयंत चौधरी की मीटिंग में 10 विधायक शामिल हुए हैं, इनमें थाना भवन से विधायक अशरफ अली, शामली से प्रसन्न चौधरी, बुढ़ाना से राजपाल तालियांन, पुरकाजी से अनिल कुमार, मीरापुर से चंदन चौहान, शिवाल गुलाब मोहम्मद, छपरौली से अजय कुमार, सादाबाद से प्रदीप चौधरी, खतौली से मदन भैया और भरतपुर से सुभाष गर्ग आदि शामिल हुए।

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel