महिला कल्याण अधिकारी अनम द्वारा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के तहत चलाया गया हस्ताक्षर अभियान

विधिक सेवाओं और सरकारी योजनाओं के प्रति किया जागरूक, पीड़िताओं की सुनी समस्याएं, किया मार्गदर्शन

महिला कल्याण अधिकारी अनम द्वारा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के तहत चलाया गया हस्ताक्षर अभियान

स्वतंत्र प्रभात 
फिरोजाबाद-  महिला सशक्तिकरण को लेकर सर्व उत्थान उज्जवला समिति द्वारा एसआरके पीजी कॉलेज के कंप्यूटर साइंस एंड एजुकेशन स्ववित्त पोषित विंग परिसर में एक दिवसीय विशेष जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें, पीड़ित महिलाओं की समस्याओं को गंभीरता से सुनते हुए उनका मार्ग दर्शन किया गया। इस दौरान सभी को शपथ दिलाई गई और महिला कल्याण अधिकारी द्वारा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के तहत हस्ताक्षर अभियान चलाया गया और पैंपलेट वितरण कर व स्टीकर चिपकाकर महिलाओं एवं छात्राओं को जागरूक किया गया।
 
जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सचिव व अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश यजुवेंद्र विक्रम सिंह, डीजीसी राजीव कुमार, महिला कल्याण अधिकारी अनम अकाशा, स्वीप ब्रांड एंबेसडर सरिता द्विवेदी, समाज सेविका कल्पना राजौरिया, अधिवक्ता निशी शर्मा, मनोज कुमार व अन्य मंचासीन अधिकारियों ने मां सरस्वती की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित व माल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।
 
जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सचिव व अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश यजुवेंद्र विक्रम सिंह ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ हस्ताक्षर जागरूकता अभियान का शुभारंभ किया और विधिक सेवाओं के साथ साथ महिलाओं को मुफ्त कानूनी सलाह एवं सरकारी वकील मुहैया कराने की प्रक्रिया के विषय में विस्तार से बताते हुए उन्हें, आत्मनिर्भर व साक्षर बनने के लिए प्रेरित किया और उनकी समस्याओं को एक एक कर सुन उनका मार्ग दर्शन किया।
 
उन्होंने कहा कि, महिलाओं में विधिक जागरूकता का बहुत अभाव है। उन्हें, न्याय प्रणाली की हर इकाई से वाकिफ होना चाहिए। ताकि, समस्याओं से वे निजात पा सके। यदि, किसी को भी विधिक सहायता या संबंधित जानकारियों की आवश्यकता है तो, वह न्यायालय परिसर स्थित कार्यालय विधिक सेवा प्राधिकरण में संपर्क कर सकते हैं।
 
डीजीसी राजीव कुमार ने महिलाओं को जागरूक करते हुए कहा कि, सभी को आत्मनिर्भर होना चाहिए। अपने घर को टूटने से बचाने के लिए विश्वास की डोर को मजबूत रखते हुए उन्हें भी उन महिलाओं से जो, आज भी सामूहिक परिवार चला रही हैं प्रेरणा लेते व सामंजस्य मानते हुए समझौता की पहल करनी चाहिए। ताकि, ऐसे हालात ही पैदा ही न हो और उन्हें, ऐसी समस्याओं से न गुजरना पड़े।
 
महिला शक्ति केंद्र /हब फॉर एंपावरमेंट ऑफ़ वूमेन से महिला कल्याण अधिकारी व जिला मिशन कोऑर्डिनेटर अनम अकाशा ने महिला संबंधी अधिनियमों पर चर्चा करते हुए कन्या सुमंगला योजना, विधवा पेंशन स्पॉन्सरशिप व सरकार की अन्य महत्वाकांक्षी योजनाओं के विषय में विस्तार से बताया एवं चाइल्ड हेल्प लाइन 1098, महिला हेल्प लाइन 1090, घरेलु हिंसा हेल्पलाइन 181, साइबर हेल्प लाइन 1930, पुलिस हेल्प लाइन 112, मुख्यमंत्री हेल्प लाइन 1076 के साथ साथ साइबर क्राइम, घरेलू हिंसा, सेल्फ डिफेंस, गुड टच बैड टच आदि के प्रति जागरूक किया और सखी वन स्टॉप सेंटर के कार्य व पीड़िताओं को दी जाने वाली सुविधाओं के विषय में विस्तार से बताया।
 
इस अवसर पर मुख्य रूप से पूर्व डीजीसी विश्राम राठौर, एडीजीसी मनोज शर्मा, वरिष्ठ अधिवक्ता अनूप चंद्र जैन, निशी शर्मा एडवोकेट, समाजसेविका कल्पना राजौरिया, संस्था अध्यक्ष रश्मि जैन व पीड़िताओं सहित विद्यालय के शिक्षक शिक्षिकाएं और छात्राएं उपस्थित रहे।
 

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel