वसंत पंचमी  पर हल्की ठंड के बीच लाखों श्रद्धालुओं ने लगाई आस्था की डुबकी।

 पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों ने निरंतर भ्रमणशील रह कर व्यवस्थाओं का लेते रहे जायजा।

वसंत पंचमी  पर हल्की ठंड के बीच लाखों श्रद्धालुओं ने लगाई आस्था की डुबकी।

 प्रयागराज।
  माघमेला प्रयागराज के पावन भूमि पर ज्ञान की देवी मॉ सरस्वती के प्राकट्य उत्सव बसंत पंचमी पर आज गंगा,यमुना व अदृश्य सरस्वती के पवित्र पावन संगम में हल्की ठंड हवाओं के मध्य लाखों  श्रद्धालुओं ने आस्था की डुबकी लगायी।
 
माघ मेला के चतुर्थ स्नान बंसत पंचमी पर श्रद्धालुओं/स्नानार्थियों का संगम की रेती पर जमावड़ा एक दिन पूर्व से ही प्रारम्भ हो गया, संगम स्नान का सिलसिला प्रातः काल शुभ मुहूर्त के साथ प्रारम्भ हुआ जो दिनभर अनवरत जारी रहा। 
 
बड़े हनुमान जी का  दर्शन के लिए उमड़ी भीड़।
 
संगम स्नान के उपरान्त श्रद्धालुओं/स्नानार्थियों ने लेटे हनुमान जी का दर्शन भी किया तथा अक्षय फल की कामना हेतु अन्न, वस्त्र, फल का दान भी किया। स्नानार्थियों में संगम स्नान को लेकर काफी उत्साह देखा गया। इस दौरान श्रद्धालुओं के सुगम आवागमन व सुरक्षित स्नान हेतु व्यापक पुलिस प्रबन्ध किये गये। श्रद्धालुओं के सुरक्षा के दृष्टिगत सम्पूर्ण मेला क्षेत्र में विभिन्न स्थानों पर नागरिक पुलिस, यातायात पुलिस, घुड़सवार पुलिस, महिला पुलिस, अग्निशमन दल, पीएसी के जवान, एटीएस के कमाण्डों व्यवस्थापित कर सतर्क दृष्टि रखी गई। 
 
 
जल पुलिस गोता खोर रहे सतर्क।
 
पवित्र संगम में जल पुलिस के साथ मोटर बोट व गोताखोर/डीप डाइवर की नियुक्ति कर स्नानार्थियों/ श्रद्धालुओं की सुरक्षा के कड़े प्रबन्ध किये गये। इस दौरान स्टीमर के माध्यम से संगम क्षेत्र का लगातार निरीक्षण किया गया एवं एसडीआरएफ/फ्लड कम्पनी के जवानों द्वारा घाटों/जल पर लगातार सतर्क दृष्टि रखी गयी। सम्पूर्ण मेला क्षेत्र में सीसीटीवी कैमरे व ड्रोन के माध्यम से चप्पे चप्पे पर नजर रखी गयी। 
 
 
डीआईजी भ्रमण सील रहकर पुलिस कर्मियो का लेते रहे जायजा।
 
इस अवसर पर वरिष्ठ अधिकारीयों द्वारा घुड़सवारी के माध्यम से भी संगम क्षेत्र का भ्रमण/निरीक्षण किया गया। प्रभारी माघ मेला डॉ0 राजीव नारायण मिश्र IPS द्वारा ड्यूटी पर तैनात समस्त पुलिस कर्मियों की कुशलता ली गयी तथा उनका उत्साहवर्धन किया गया व कमाण्ड सेन्टर के माध्यम से लगातार मेला क्षेत्र में सतर्क दृष्टि रखी गयी। पुलिस कर्मियों में मेला क्षेत्र की सुरक्षा व्यवस्था के साथ-साथ व्यवहार में भी सेवा का भाव दिखाई पड़ा | IMG-20240214-WA0218
 
  मेला क्षेत्र में नव निर्मित खोया पाया केन्द्रों के माध्यम से भूले भटकों को उनके परिजनों से मिलाया गया स्नानार्थियों में धर्म आस्था के प्रति काफी उत्साह देखने को पाया गया तथा मेले की व्यवस्था देखकर देश के कोने-कोने से आये श्रद्धालुओं ने अत्यन्त प्रसन्नता व्यक्त की।  फल स्वरूप बसंत पंचमी का यह स्नान पर्व भी शान्ति और सुगमता के साथ सकुशल सम्पन्न हुआ। 
 
छः बजे सायं काल तक 40लाख लोगो ने किया स्नान।
 
सायं 6:00 बजे तक लगभग 42 लाख  स्नानार्थियों व श्रद्धालुओं ने गंगा, यमुना एवं अदृश्य सरस्वती के पवित्र संगम तट पर बनाये गये विभिन्न घाटों पर आस्था की डुबकी लगायी एवं पुण्य लाभ अर्जित किया। 
 श्रद्धालुओं को मेले में भटकना न पड़े, इसके लिए संगम जाने का मार्ग वापस लौटने का मार्ग व अन्य मार्गों को प्रदर्शित करते हुए साइन बोर्ड रास्तों पर लगाये गये है। माघ मेला क्षेत्र में सुरक्षा की व्यवस्था चाक-चैबंद रही।
IMG-20240214-WA0217
 
समस्त उच्चाधिकारी डटे रहे मेला छेत्र में।
 
 एडीजी जोन भानु भाष्कर, मण्डलायुक्त श्विजय विश्वास पंत, पुलिस आयुक्त  रमित शर्मा, पुलिस महानिरीक्षक  प्रेम कुमार गौतम, कुम्भ मेलाधिकारी  विजय किरण आनन्द, पुलिस उपमहानिरीक्षक/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक माघ मेला डाॅ0 राजीव नारायण मिश्र, जिलाधिकारी  नवनीत सिंह चहल, प्रभारी अधिकारी माघ मेला  दयानन्द प्रसाद, अपर जिलाधिकारी मेला  विवेक चतुर्वेदी सहित अन्य वरिष्ठ पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारी निरंतर भ्रमणशील रहकर व्यवस्थाओं का जायजा लेते रहे। वसंत पंचमी के अवसर पर सुबह से ही श्रद्धालुओं की काफी भीड़ रही। 
 
 

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel