सहजनवां तहसील क्षेत्र में विना मान्यता के संचालित हो रहे प्राइवेट विद्यालय-जिमेदार बने मूकदर्शक

शिक्षा विभाग के जिमेदारो को नही है पता की उनके छेत्र मे कितने संचालित हो रहे अबैध विद्यालय

सहजनवां तहसील क्षेत्र में विना मान्यता के संचालित हो रहे प्राइवेट विद्यालय-जिमेदार बने मूकदर्शक

स्वतंत्र प्रभात 
रिपोर्ट/सुदर्शन शुक्ल
सहजनवां/गोरखपुर। 
सहजनवा तहसील क्षेत्र मे अबैध तरीके से विना मान्यता के संचालित हो रहे हैं प्राइवेट स्कूल वही देखा जाये तो पाली ब्लॉक में अवैध तरीके से  संचालित हो रहे अवैध शैक्षणिक विद्यालय, व शिक्षण संस्थान तहसील क्षेत्र में तमाम विद्यालय विना मान्यता के संचालित होने के साथ ही साथ इंटर तक कि पढ़ाई करवा रहे हैं, वही सरकार द्वारा बनाये गए मानक की भी पूर्ति नही किया जा रहा है देखा जाये तो विद्यालय संचालको द्वारा बच्चों से तमाम सुविधाओं के नाम पर फीस वसूला जाता है इतना ही नहीं इन संचालको द्वारा विद्यालय परिसर में ही बच्चों को ड्रेस, किताब, कॉपी भी मनमानी तरिके से बच्चों को दिया जाता है।
 
वही मनमानी तरीके से पैसे लिया जाता है वही छेत्र मे कुकुरमुत्ते की तरह प्राइवेट विद्यालय की भरमार है वही विभाग के जिम्मेदार पूरी तरह से मूकदर्शक बने हुए हैं प्राइवेट विद्यालयों में मनमानी तरीके से कॉपी किताब ड्रेस के नाम पर वसूले जा रहे हैं मोटी रकम वही बच्चों के भविष्य के साथ किया जा रहा है खिलवाड़ वही बिना मान्यता के  सहजनवा तहसील क्षेत्र के तीनों ब्लॉक में विद्यालय हो रहे संचालित वही बी ई ओ रजनीश दृवेदी पाली से पूछा गया तो उनका कहना था कि आप लोग हमे बताये की कौन सा विद्यालय बिना मान्यता का चल रहा है।
 
 तब मैं कार्यवाही करुगा वही अगर देखा जाये तो छेत्र मे चंचालित हो रहे अबैध विद्यालयों के बारे में शिक्षा विभाग के जिमेदार पूरी तरह से अनजान दिख रहे हैं वही जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी का दावा है कि पहले कई विद्यालयों पर की गई थी कारवाई लेकिन अब फिर से करेंगे सघन जांच अवैध  तरीके से हो रही संचालित विद्यालय व शिक्षण संस्थानों की जांच कराकर कार्यवाही किया जायेगा।

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel