अधूरा : छितौनी-तमकुही रेल परियोजना को अविलंब पूर्ण कराये रेलमंत्री - सतीश चंद दुबे

राज्य सभा सदस्य सतीश चंद दुबे ने राज सभा सत्र में छितौनी-तमकुही रेल लाइन अधूरे पड़े परियोजना को लेकर जोरदार तरीके से उठाई मांग

अधूरा : छितौनी-तमकुही रेल परियोजना को अविलंब पूर्ण कराये रेलमंत्री - सतीश चंद दुबे

ब्यूरो प्रमुख - प्रमोद रौनियार
कुशीनगर। जनपद के छितौनी तमकुही प्रस्तावित रेल लाइन परियोजना में 37.7 लाख घन मीटर मिट्टी के कार्य के साथ-साथ 10 बड़े पुल एवं 47 छोटे पुल का निर्माण किया जाना है प्रस्तावित है। उल्लेखनीय है कि छितौनी-तमकुही रेल लाइन परियोजना के पूरा नहीं होने के विरुद्ध में राजसभा सदस्य सतीश चंद्र दूबे ने बुधवार को राज्य सभा सत्र के शून्यकाल में जनहित में बड़ी बुलंदी से आवाज उठायी है। उन्होंने खेद प्रकट करते हुए रेल मंत्री अश्वनी वैष्णव से कहा है कि वर्ष 2007 मे रेलवे बोर्ड द्वारा छितौनी-तमकुही रेल लाइन परियोजना स्वीकृति किया गया था। सांसद ने सभापति के माध्यम से रेल मंत्री से आग्रह किया की जल्द से जल्द इस परियोजना को पूरा किया जाय जिससे आम लोगो को लाभ मिल सके। 
 
उन्होंने सदन को आगे बताया कि वर्ष 2007 मे तत्कालीन रेल मंत्री ने छितौनी तमकुही रेल लाइन का शिलान्यास किया था। पनियहवा से छितौनी होते हुए रेल लाइन नारायणी नदी के किनारे होते हुए यूपी के जटहां बाजार, बिहार प्रांत के मधुबनी, धनहा, खैरा टोला इत्यादि स्थानों से होकर गुजरेगी तथा कुशीनगर के तमकुहीरोड रेलवे स्टेशन पर ये कप्तानगंज-थावे रेल लाइन में मिल जायेगी। इस परियोजना में 37.7 लाख घन मीटर मिट्टी के कार्य के साथ-साथ 10 बड़े पुल एवं 47 छोटे पुल का निर्माण किया जाना प्रस्तावित था। परियोजना में पनियहवा से 3.35 किमी पर छितौनी, 15.5 किमी पर जटहा, 28.7 किमी पर मधुबनी, 35 किमी पर धनहा, 38 किमी पर खैरा टोला व 49.7 किमी पर पिपराही स्टेशन व हाल्ट का निर्माण की रूपरेखा बनाने के साथ ही 62.5 किमी पर अंतिम तमकुहीरोड स्टेशन को जंक्शन बनाया जाना प्रस्तावित था। राज्य सभा सदस्य के इस पुनीत कार्य एवं मांग की क्षेत्र में बहुत सराहना हो रही हैं।

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel