डीयू में प्रोफेसर बने मठिया के विमलोक

सफलता पर हर्ष

डीयू में प्रोफेसर बने मठिया के विमलोक

रूद्रपुर, देवरिया।

तहसील क्षेत्र के ग्राम मठिया निवासी रमेश तिवारी के होनहार पुत्र ने क्षेत्र जवार का नाम रोशन किया है। उनके पुत्र विमलोक तिवारी ने दिल्ली विश्वविद्यालय में असिस्टेंट प्रोफेसर का पदभार संभाला है। जिससे परिवार सहित क्षेत्र में हर्ष व्याप्त है। विदित हो कि रमेश तिवारी काफी दिनों से खजुहा चौराहे पर किराना की दुकान चलाते हैं। व्यवहारी से मिलनसार रमेश तिवारी का पुत्र विमलोक शुरू से ही मेधावी रहा।

उसने हाई स्कूल व इंटर की पढ़ाई सरस्वती शिशु मंदिर सीनियर सेकेंडरी स्कूल गोरखपुर से पूरी की। स्नातक की शिक्षा इलाहाबाद विश्वविद्यालय से पूरी करने के बाद उन्होंने इंदिरा गांधी नेशनल यूनिवर्सिटी दिल्ली से राजनीति शास्त्र में परास्नातक की डिग्री हासिल की। उसके बाद बिमलोक सिविल सेवा की तैयारी में जुट गए। दो बार मेन्स में  असफल होने के बाद भी उन्होंने हिम्मत नहीं हारी। इस वर्ष उन्होंने प्री के साथ मेंस व इंटरव्यू भी क्लियर कर लिया किंतु ईडब्ल्यूएस कोटे में होने के बावजूद क्लर्कियल मिस्टेक के कारण उन्हें सिविल सेवा का पद नहीं मिल सका।

इस बीच वे गेस्ट टीचर के रूप में मिरांडा हाउस कॉलेज में शिक्षण कार्य करने लगे। इसी दौरान दिल्ली विश्वविद्यालय के अंतर्गत निकले असिस्टेंट प्रोफेसर की भर्ती में बैठे और सफलता प्राप्त की उन्हें दिल्ली के साउथ ब्लॉक स्थित भारती कॉलेज में राजनीति विज्ञान के असिस्टेंट प्रोफेसर के रूप में पदभार सौंपा गया। समाचार सुनकर रमेश तिवारी के परिवार में खुशी की लहर दौड़ गई। जबकि क्षेत्र जवार में भी चर्चा होने लगी।

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel