लालबहादुर शास्त्री जी कुशल प्रशासक थे – कांग्रेस

लालबहादुर शास्त्री जी कुशल प्रशासक थे – कांग्रेस

अम्बेडकरनगर 1965 के भारत पाक युद्ध में भारतीय जनता और भारतीय सेना का मनोबल बढ़ाने के लिए जय जवान जय किसान का नारा देकर भारतीय सेना और भारतीय जनता का मनोबल ऊंचा किया उक्त बातें जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष रामकुमार पाल ने जिला कांग्रेस कार्यालय पर शास्त्री जी की पुण्यतिथि के दौरान कही।उन्होंने कहा


अम्बेडकरनगर

1965 के भारत पाक युद्ध में भारतीय जनता और भारतीय सेना का मनोबल बढ़ाने के लिए जय जवान जय किसान का नारा देकर भारतीय सेना और भारतीय जनता का मनोबल ऊंचा किया उक्त बातें जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष रामकुमार पाल ने जिला कांग्रेस कार्यालय पर शास्त्री जी की पुण्यतिथि के दौरान कही।उन्होंने कहा शास्त्री जी एक कुशल प्रशासक थे और वे दृढनिश्चयी थे।

पी. सी. सी. सदस्य मो. खान और डा. विजय शंकर तिवारी ने कहा लाल बहादुर शास्त्री जी ने भारत के स्वाभिमान को बढाते हुए कहा भारत न रुकेगा न झुकेगा आधी रोटी खायेंगे देश को कृषि क्षेत्र में आगे बढायेंगे। जिला कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता अवधेश कुमार मिश्र ‘‘बब्लू‘‘ ने बताया भारत के द्वितीय प्रधानमंत्री भारत रत्न लालबहादुर शास्त्री जी ने देश की आजादी की लड़ाई में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया और भारत पाक युद्ध के दौरान वे सेना का मनोबल बढ़ाने के लिए सेना के अस्पताल में पहुंचे।

कांग्रेस कार्यालय पर हुए कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष रामकुमार पाल और संचालन रेहान जैदी ने किया ।कार्यक्रम में शास्त्री जी के चित्र पर माल्यार्पण करके गोष्ठी का आयोजन किया गया गोष्ठी में शास्त्री जी विचारों से अवगत कराया गया।

कार्यक्रम को प्रमुख रूप से पी. सी. सी, सदस्य मो. अनीस खान, डा. विजय शंकर तिवारी, पूर्व नगर अध्यक्ष गुलाम रसूल ‘‘छोटू‘‘, वरिष्ट कांग्रेस नेता सुखी लाल वर्मा, अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष मो. जियाउद्दीन अंसारी, राष्ट्रीय छात्र संगठन के प्रदेश महासचिव विशाल वर्मा, सलमान खान, नूरमोहम्मद, फैयाज अहमद, सुनील कुमार, अख्तर अली, कालिका प्रसाद आदि ने संबोधित किया।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती? सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती?
सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को चुनाव आयोग को उस याचिका पर जवाब दाखिल करने के लिये एक सप्ताह का समय...

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel

साहित्य ज्योतिष